EPFO की 6 करोड़ खाताधारकों को चेतावनी, न करें ये गलती… वरना PF खाते से उड़ जाएंगे आपके सारे पैसे

नई दिल्ली २८ अक्टूबर 2019। नई दिल्ली. कर्मचारी ​भविष्य निधि संगठन (Employees’ Provident Fund Organisation) ने अपने 6 करोड़ से ज्यादा खाताधारकों को चेताया है. ईपीएफओ (EPFO) ने खाताधारकों को कहा है खाताधारक फर्जी कॉल्स से सावधान रहें अन्यथा, फोन पर पर्सनल डिटेल साझा करने से पीएफ खाते से पैसे उड़ सकते हैं।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

ईपीएफओ ने खाताधारकों से अपील की है कि वे किसी तरह की निजी जानकारी कॉल पर साझा ना करें, नहीं तो इस कारण उन्हें आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है। ईपीएफओ ने ट्वीट कर 6 करोड़ से ज्यादा खाताधारकों से कहा है कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन कभी भी आपसे कोई पर्सनल जानकारी साझा करने को नहीं कहता है। इसके साथ ही ईपीएफओ बैंक में पैसे जमा करने को भी नहीं कहता है।

ईपीएफओ ने कहा कि है कि अगर आपसे कोई कॉल कर निजी जानकारी जैसे पैन कार्ड, यूएएन या बैंक खाते की जानकारी मांगे तो सावधान हो जाएं, खाताधारक इस तरह के फर्जी कॉल से सावधान हो जाएं। बता दें कि यूएएन को आधार से भी लिंक कर दिया गया है। खाताधारक के पर्सनल डेटा के लीक होने या फ्रॉड को रोकने को लेकर क्लेम सेटलमेंट स्टेटस को चेक करने के लिए यूएएन आधारित इन्क्वायरी सिस्टम को केवल ईपीएफओ की वेबसाइट पर मेंबर पासबुक ऐप्लिकेशन के जरिए ही पहुंचा जा सकता है।

इसमें आपको अपने यूजर आईडी और पासबुक से लॉगिन करना होता है, तब जाकर क्लेम सेटलमेंट स्टेटस मालूम हो पाता है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी ईपीएफओ पेंशन से जुड़े एक नियम में बड़ा बदलाव करने की तैयारी कर रहा है। मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन पेंशन के लिए उम्र की सीमा को 58 साल से बढ़ाकर 60 साल करने का प्रस्ताव ला सकता है। इस तरह का विकल्प मिलने से खाताधारक को पेंशन फंड बढ़ाने का मौका मिलेगा, ईपीएफओ इसके अलावा अतिरिक्त बोनस देने पर भी विचार कर सकता है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.