वीडियो: जब CM भूपेश बघेल ने सरेआम खाया सोटा….चेहरे पर शिकन तक नहीं आई, गोवर्धन पूजा पर भी अलग अंदाज़ में दिखे सीएम

भिलाई 28 अक्टूबर 2019। गोरा गोरी तिहार के मौके पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का खास अंदाज देखने को मिला है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गौरी गौरी तिहार के मौके पर भिलाई के जजंगिरी गांव पहुंचे। यहां पर मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से मिलकर उन्हे दिवाली की शुभकामनाएं दी। साथ ही गौरा गौरी तिहार में वर्षो से चली आ रही सोटा खाने की परंपरा को आगे बढ़ाते हुये सोटा हाथों में खाया।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

माना जाता हैं कि सोटा की मार खाने से व्यक्ति के सारे कष्ट दूर हो जाते है और जो सोटा हाथों में खाता हैं उसके शरीर में भगवान की आत्मा होती है। इसी लिये इस परंपरा को गांवों में भारी उत्साह के साथ मनाया जाता है। सोटा मारने वाले व्यक्ति को बैगा कहा जाता हैं जो पूजा पाठ करने के बाद सोटा मारने की परंपरा को करते है।

वहीँ आज मुख्यमंत्री निवास पर गोवर्धन तिहार और गौठान दिवस धूमधाम के साथ उत्साह पूर्वक मनाया गया, जिसमें पूरे प्रदेश से बड़ी संख्या में आए लोग शामिल हुए थे। मुख्यमंत्री निवास में पहली बार मनाये गए गोवर्धन तिहार और गौठान दिवस पर राउत नाचा दलों ने आकर्षक धुनो के साथ परंपरागत राउत नाच प्रस्तुत कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

मुख्यमंत्री बघेल ने पारंपरिक वेशभूषा में धर्मपत्नी मुक्तेश्वरी बघेल के साथ गोवर्धन की पूजा अर्चना की और प्रदेश की सुख-समृद्धि की कामना की। पूजा स्थल को ग्रामीण क्षेत्रों के घरों में गाय की सार के रूप में सजाया गया था। सार की छत में छिंद की पत्तियों से छाया की गई थी, और सार को गोबर से लीप के सुंदर रंगोली बनाई गई थी। मुख्यमंत्री ने यहां सार में गायों को खिचड़ी खिलाई। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ी संस्कृति के अनुरूप राउत और केवट समाज सहित अन्य समाजों के प्रतिनिधियों ने दिवारी और गोवर्धन पूजा की रस्म अदा की।

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.