पैसे लेकर धीमी बैटिंग करने के आरोप में गिरफ्तार हुए कर्नाटक के दो क्रिकेटर… एक है टीम का कप्तान, दूसरा ऑलराउंडर

बेंगलुरु 7 नवंबर 2019, कर्नाटक प्रीमियर लीग (केपीएल) में हुई फिक्सिंग मामले में दो और क्रिकेटरों की गिरफ्तारी की गई है। सेंट्रल क्राइम ब्रांच (जो पिछले दो सीजन में हुई फिक्सिंग के मामलों की जांच कर रही है) द्वारा गिरफ्तार किए गए दो क्रिकेटर फ्रैंचाइजी बेल्लारी से हैं और उनके नाम- सीएम गौतम और अबरार काजी है। गौतम टीम के कप्तान है, जबकि काजी विकेटकीपनर बल्लेबाज। इन्हें केपीएल में फिक्सिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

गौतम गोवा के लिए खेलने के लिए इस घरेलू सत्र से पहले कर्नाटक से बाहर चले गए थे, जबकि काजी अब मिजोरम के लिए खेल रहे हैं। पुलिस ने कहा कि गौतम और काज़ी को टस्कर्स और हुबली टाइगर्स के बीच केपीएल फाइनल में धीमी बल्लेबाजी के लिए 20 लाख रुपये दिए गए थे। अधिकारियों ने कहा कि आने वाले दिनों में और गिरफ्तारियां होने की संभावना है और जांच सुचारू रूप से और लक्ष्य पर आगे बढ़ रही है।

गौतम इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, मुंबई इंडियंस और दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए भी खेल चुके हैं। गौतम ने 94 फर्स्ट-क्लास मैच खेले हैं, जिसमें 41.4 रन बनाए हैं, जिसमें 10 शतक और 24 अर्द्धशतक के साथ 4714 रन बनाए है और वह कर्नाटक की ओर से खेलने वाले नियमति सदस्य रहे हैं। काजी ने मिजोरम में शिफ्ट होने से पहले पिछले सीजन में नगालैंड के लिए खेला था और दोनों का नाम शुक्रवार से शुरू होने वाली सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में था। मिजोरम क्रिकेट संघ के अधिकारियों ने संपर्क करने पर कहा कि काजी कुछ दिनों पहले बेंगलुरु के लिए रवाना हुए थे और वे लोग इस मामले पर नजर रख रहे हैं। गौतम और काजी की गिरफ्तारी केपीएल फिक्सिंग के सिलसिले की कड़ी में नवीनतम घटनाक्रम के रूप में आई है। पिछले सप्ताह निशांत सिंह शेखावत को गिरफ्तार किया गया था, उससे पहले ही मामले की जांच करने वालों ने बेंगलुरु ब्लास्टर्स के खिलाडिय़ों विनू प्रसाद और एम विश्वनाथ को हिरासत में ले लिया था।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.