राजधानी में दो आरक्षकों की बेदम पिटाई, एक का सर फटा…. रावण दहन के दौरान ड्यूटी पर थे तैनात…. पढ़ें पूरा मामला

रायपुर 9 अक्टूबर 2019। दशहरे के दिन उत्पात मचा रहे ग्रामीणों को समझाईश देना पुलिसकर्मियों के लिए महँगा पड़ गया। नशे में हंगामा कर रहे ग्रामीणों ने पुलिस कर्मियों पर हमला कर दिया और बाद में मदद के लिए पहुँची पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। उत्पात इस कदर हुआ कि, पुलिस किसी को भी हिरासत में नही ले पाई और पुलिस टीम को भागना पड़ गया.

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

दरअसल मामला रायपुर के अभनपुर थाना क्षेत्र का है। मंगलवार को ग्राम खोरपा में दशहरा का कार्यक्रम रखा गया था। यहां पर अभनपुर थाना के प्रधान आरक्षक उज्जवल नाग और आरक्षक महेश यादव की ड्यूटी लगायी गयी थी। डयूटी के दौरान गांव के दो युवक आये और उन्होंने पुलिसकर्मियों से कहा कि साहू किराना स्टोर्स के सामने पुलिया के पास झगड़ा हो रहा है। सूचना के बाद दोनों आरक्षक और चालक 112 गाड़ी में मौके पर निकले। साहू किराना के पास पुलिसकर्मियो को देख शराब के नशे में आरोपी राजू साहू, कौशल मंडल, सहित मोहल्ले के अन्य लोग गंदी-गंदी गाली देते हुये धक्का मुक्की करने लगे।

विवाद के दौरान आरक्षक महेश यादव के पीछे से राजू साहू ने डंडे से जोरदार वार किया। हमले में आरक्षक महेश यादव का सिर फट गया और लहूलुहान हालत में मौके पर ही बेहोश होकर गिर पड़ा। हमले को देख जब प्रधान आरक्षक उज्जवल नाग आरोपियों को समझाने के लिये सामने आये तो आरोपियों ने उनकी भी जमकर लात-घूंसे से पिटाई कर दी। जैसे तैसे इस घटना की जानकारी वहां माजूद 112 के वाहन चालक और जवानों ने अभनपुर थाने में दी।

शिकायत के बाद मौके पर पहुंची पुलिस पर भी आरोपी राजू साहू, कौशल मंडल सहित अन्य लोगों ने पथराव करने लगे। बड़ी मशक्कत के बाद आरोपियो को गिरफ्तारी नहीं किया जा सका है। आरोपियों की गिरफ्तारी कर उनके खिलाफ धारा 186,294,332,354,506, और 34 के तहत कार्रवाई की जा रही है। वहीं घटना में महेश यादव के सर पर गंभीर चोट आयी हैं जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.