एसपी के नाम पर धमकी :….पहले अश्लील चैट कर युवाओं को झांसे में लेता….फिर SP के नाम पर कॉल कर पैसा ऐठता… रायपुर पुलिस ने लड़की बनकर चैट करने व धमकाने वाले शातिर को दबोचा…तो हुआ ये बड़ा खुलासा

रायपुर 27 नवंबर 2019। खुद को रायपुर एसपी बताकर लोगों से ठगी करने वाले एक शातिर को राजधानी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी लोकेन्टो एप्लीकेशन में स्कार्ट सर्विस के नाम पर विज्ञापन देकर लोगों को झांसे में लेता था। आरोपी व्हाट्सएप के माध्यम से अश्लील चैटिंग करता, फिर उसी चैट का स्क्रिन शाॅट खींचकर उनके खिलाफ एफआईआर की धमकी दे उन्हें ब्लैकमेल कर पैसे ऐठता था। आरोपी ने बिलासपुर हाईकोर्ट के एक वकील को भी अपना शिकार बनाया था। आज इस पूरे मामले का खुलासा एडिशनल एसपी प्रफुल ठाकुर ने किया। आरोपी का नाम ज्ञानेश्वर सिंह राजपूत हैं, जो राजनांदगांव के कंचन बाग थाना कोतवाली का रहने वाला है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

बिलासपुर निवासी एडवोकेट अमित खलको को उसके दोस्त ने एक फोन नंबर दिया और कहा जब भी कभी तनाव की स्थिति में हो तो इस नंबर पर बात कर लेना। अमित ने दिये हुये नंबर पर चैट की, उसके बाद अमित के मोबाइल नंबर पर फोन आया सामने वाले ने खुद को रायपुर एसपी बताकर कहा कि अमित के खिलाफ थाना सिविल लाईन में एक युवती ने अश्लील चैट की शिकायत की है, अगर वो कोई कार्रवाई नहीं चाहता हैं तो पीड़िता को पैसे देकर मामले को खत्म कर दे। इस बात से घबराकर पीड़ित अमित खलको ने दिये हुये एकाउंट नंबर पर अलग-अलग किश्तो में 25 हजार रूपए ट्रांसफर कर दिये। इसके बाद अमित ने इस पूरे मामले की जानकारी अपने दोस्त को दी।  आरोपी के द्वारा फिर से पैसों की मांग की गयी तो अमित और उसके दोस्त ने रायपुर आकर इस मामले में थाना सिविल लाइन में पूछताछ की। थाना सिविल लाइन पता चला कि इस तरह का कोई मामला किसी युवती ने दर्ज नहीं कराया हैं और न ही रायपुर एसपी के द्वारा कोई काॅल किया गया है। साथ ही  जिस नंबर पर अमित को फोन किया गया था वो नंबर भी रायपुर एसएसपी का नहीं हैं और न ही किसी पुलिस अधिकारी का है।

इसके बाद इस पूरे मामले में अमित ने थाना सिविल लाईन में आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज कराया। शिकायत के बाद मामले को गंभीरता से लेते हुये एसएसपी आरिफ शेख ने तत्काल जांच के आदेश दिये। जांच में पुलिस ने आरोपी के द्वारा दिये एकाउंट नंबर को खंगाला। आरोपी की पहचान राजनांदगांव निवासी ज्ञानेश्वर सिंह राजपूत के रूप में हुई। इसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर कढ़ाई से पूछताछ की गयी। आरोपी ज्ञानेश्वर सिंह ने ठगी करने की घटना को स्वीकार की। आरोपी को गिरफ्तार कर उसके पास से दो मोबाइल फोन जब्त किया गया है। आरोपी के खिलाफ 671/19 धारा 384, 419 भादवि. के तहत अपराध पंजीबद्ध कर पुलिस इस मामले में और भी पूछताछ कर रही है।

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.