नए चीफ सिकरेट्री के लिए अजय सिंह, बैजेंद्र कुमार के नाम पर भी विचार, सरकार के अफसर बोले…हमारे पास अफसरों की बेहद कमी

रायपुर, 25 अक्टूबर 2019। भारत सरकार द्वारा चीफ सिकरेट्री सुनील कुजूर को एक्सटेंशन देने से मना कर देने के बाद अब नए चीफ सिकरेट्री के नाम पर नए सिरे से विचार-विमर्श शुरू हो गया है। जाहिर है, कुजूर 31 अक्टूबर को रिटायर होंगे। इससे पहले सरकार को नए सीएस के नाम का ऐलान करना होगा।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

नए चीफ सिकरेट्री के लिए वैसे 87 बैच के सीके खेतान और आरपी मंडल प्रबल दावेदार हैं। दोनों एडिशनल चीफ सिकरेट्री के रूप में मंत्रालय में अहम जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। खेतान और मंडल के अलावा 83 बैच के आईएएस अजय सिंह और 85 बैच के आईएएस एन बैजेंद्र कुमार के नाम भी कुछ दिनों से चर्चा में हैं। अजय सिंह सूबे के सबसे सीनियर आईएएस हैं। वे चीफ सिकरेट्री रह चुके हैं। नई सरकार ने उन्हें हटाकर सुनील कुजूर को सीएस बनाया था। वहीं, सीनियरिटी में दूसरे नम्बर के आईएएस बैजेंद्र कुमार एनएमडीसी के सीएमडी हैं। अगले साल जुलाई में उनका रिटायरमेंट है।

सरकार के एक करीबी अफसर ने स्वीकार किया कि सीएस के लिए स्वाभाविक रूप से अजय सिंह और बैजेंद्र कुमार के नाम पर भी विचार किया जा रहा है….मंत्रालय में सीनियर सचिव लेवल पर अफसरों का काफी टोटा है। सरकार के पास सिर्फ चार एसीएस हैं। इनमें से भी सुनील कुजूर 31 को रिटायर हो जाएंगे। 87 बैच से अगर किसी को सीएस बनाया गया तो जाहिर है, दो में से किसी एक को मंत्रालय से बाहर जाना होगा। ऐसे में मंत्रालय में सिर्फ एक एसीएस बचेंगे अमिताभ जैन। अफसर बताते हैं….सारे पहलुओं पर विचार करने के बाद नए मुख्य सचिव का नाम तय किया जाएगा। वो इन चारों में से कोई भी हो सकता है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.