ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डेविड वॉर्नर के नाम दर्ज हुआ ये खास रिकॉर्ड…

नईदिल्ली 28 अक्टूबर 2019। आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के बाद एक बार फिर से ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डेविड वॉर्नर का बल्ला अपना कमाल दिखा रहा है। 33 साल के डेविड वॉर्नर ने एक बार फिर अपनी फॉर्म का प्रदर्शन किया। अगले साल होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप से पहले वॉर्नर ने श्रीलंका के खिलाफ शानदार शतक बनाया। उनके शतक के दम पर पहले टी-20 में ऑस्ट्रेलिया ने 134 रनों की जीत दर्ज की। वॉर्नर ने 56 गेंदों में शतक ठोका। इसी के साथ वॉर्नर ने ग्लेन मैक्सवैल और शेन वॉटसन के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

कप्तान एरोन फिंच ने 64 और ग्लेन मैक्सवेल ने 62 रनों की पारियां खेलीं। वॉर्नर एशेज सीरीज के दौरान बुरी तरह फ्लॉप रहे थे। लेकिन उन्होंने टी-20 में अपनी फॉर्म हासिल की। वॉर्नर अपने पहले टी-20 शतक में 8 चौके और 3 छक्के लगाए। वहीं, वॉर्नर 56 गेंद की पारी में 10 चौके और चार छक्के जड़े। वॉर्नर का अंतरराष्ट्रीय टी-20 में ये पहला शतक है। संयोग से उन्होंने पहली शतकीय पारी अपने 33वें जन्मदिन पर खेली।

डेविड वॉर्नर ऑस्ट्रेलिया के लिए टी-20 में शतक लगाने वाले चौथे बल्लेबाज बने। उनसे पहले ग्लेन मैक्सवेल (3 शतक), एरोन फिंच (2 शतक) और शेन वॉटसन (1 शतक) इस उपलब्धि को हासिल कर चुके हैं।

एशेज में 2-2 से ड्रॉ खेलने के बाद भी ट्रॉफी ऑस्ट्रेलिया के ही पास रही। तीसरे टेस्ट में वॉर्नर के बनाए 61 रन एकमात्र ऐसी पारी थी, जिसमें वॉर्नर 11 रन से अधिक बना पाए। वह तीन बार शून्य पर आउट हुए। 61 रनों की पारी के अलावा वॉर्नर केवल 34 रन बनाए पाए जो किसी भी ओपनर द्वारा 10 पारियों में बनाया गया सबसे कम स्कोर है।

सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर (नाबाद 100) के आतिशी शतक से ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को पहले टी-20 मुकाबले में रविवार को 134 रन के बड़े अंतर से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। ऑस्ट्रेलिया की टी-20 में रनों के लिहाज से यह सबसे बड़ी जीत है। वॉर्नर को अपनी इस शानदार पारी के लिए ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ का पुरस्कार दिया गया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.