सूदखोरों से परेशान रिटायर्ड अफसर ने कर ली खुदकुशी…..सुसाइड नोट में बतायी अपनी आपबीती….6 लाख का कर्जा सूदखोरों ने बना दिया 30 लाख, घर भी हड़प लिया

बिलासपुर 1 नवंबर 2019। प्रदेश में लाख कोशिशों के बावजूद सूदखोरों पर शिकंजा कसता नजर नहीं आ रहा है। सूदखोरों ने एक रिटायर्ड अफसर पर इस कदर खौफ बनाया कि उन्होंने खुदकुशी कर ली। मामला बिलासपुर के निराला नगर का है। जानकारी के मुताबिक फांसी लगाकर खुदकुशी करने वाले CSEB के सेक्शन आफिसर रह चुके थे। उन्होंने सूद में 6 लाख रुपये कर्ज लिये थे। सूदखोरों ने उस रकम को ब्याज सहित 27 लाख बना दिया। हद तो तब हो गयी जब सूदखोरों ने दवाब और डर दिखाते हुए उनका घर भी अपने नाम करा लिया।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

सेक्शन आफिसर रहे अधिकारी का नाम भूपेंद्र शर्मा है। बिलासपुर के निराला नगर के रहने वाले भूपेंद्र ने जयपाल पंजवानी के कहने पर प्रमोद यादव से 6 लाख रुपये उधार लिये थे। कुध महीने में ही सूदखोर पूरी रकम को 27 लाख बताने लगे। इसके बाद लगातार डराने धमकाने का सिलसिला शुरू हो गया। इधर घर भी सूदखोर प्रमोद ने अपने नाम करा लिया और भूपेंद्र को घर से बेदखल करने लगा।

विवाद ज्यादा बढ़ता देख नवीन तिवारी और शैलेंद्र सिंह नाम के दो युवकों ने सुलह कराने की बात कही। 30 लाख रुपये पूरे कर्ज को चुकाने का सौदा तैयार हुआ। तय रकम भूपेंद्र ने दे भी दिया, लेकिन दो दिन पहले प्रमोद कुछ गुंडों के साथ भूपेंद्र के घर पहुंचकर उसे धमकाने लगा। प्रमोद का कहना था कि उसे सिर्फ 5 लाख रुपये मिले हैं, बाकि के 25 लाख रुपये उसे तुरंत चाहिये। इस घटना के बाद भूपेंद्र बहुत डर गये और उन्होंने सुसाइड नोट में पूरी कहानी लिखकर खुदकुशी कर ली।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.