…सरकार ने डायरेक्टर को डिमोट कर बना दिया इंजीनियर…. PM मोदी की काशी में पावर कट पर सरकार का बड़ा एक्शन

नयी दिल्ली 2 नवंबर 2019। उत्तर प्रदेश सरकार के ऊर्जा विभाग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बिजली आपूर्ति में लापरवाही बरतने पर निगम के डायरेक्टर को डिमोट कर इंजीनियर बना दिया है।– सरकार ने पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के निदेशक अंशुल अग्रवाल का डिमोशन कर दिया है. अंशुल अग्रवाल को मुख्य अभियंता बना दिया गया है. इससे पहले वह तकनीकी निदेशक थे।  दरअसल, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अंशुल के निदेशक पद पर रहते हुए अपने काम में लापरवाही बरतने के आरोपों के बाद लिया है।  वाराणसी के चौधरी उप केंद्र से 7 जुलाई को 18 घंटे और 21 जुलाई को 36 घंटे बिजली गुल रहने के बाद श्रीकांत शर्मा ने अंशुल को पदावनत करने का फैसला लिया।  सरकार के मुताबिक सरकार सभी क्षेत्रों में पूरी तरह से बिजली देने के लिए कृतसंकल्प है और इसमें लापरवाही करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। 

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

दरअसल, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अंशुल के निदेशक पद पर रहते हुए अपने काम में लापरवाही बरतने के आरोपों के बाद लिया है. वाराणसी के चौधरी उप केंद्र से 7 जुलाई को 18 घंटे और 21 जुलाई को 36 घंटे बिजली गुल रहने के बाद श्रीकांत शर्मा ने अंशुल को पदावनत करने का फैसला लिया.

सरकार के मुताबिक सरकार सभी क्षेत्रों में पूरी तरह से बिजली देने के लिए कृतसंकल्प है और इसमें लापरवाही करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा.प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में कम बिजली आपूर्ति और बिजली की गड़बड़ी को देर से ठीक करने के मामले में यह फैसला लिया गया.यूपी सरकार का यह फैसला 7 जुलाई को कटी बिजली को लेकर लिया गया है. इससे ठीक पहले जून के महीने में ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर कार्य करते हुए पावर कार्पोरेशन के 31 कार्मिकों के विरुद्ध अभियोजन की कार्यवाही सुनिश्चित करने के आदेश दिए थे.

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.