शिक्षक व शिक्षाकर्मी संगठनों ने मुख्यमंत्री को सौंपा ज्ञापन….सम्पूर्ण संविलियन, सीनियरिटी सहित इन 10 मांगों को लेकर रखी अपनी बात

धमतरी 9 अक्टूबर 2019। धमतरी पहुंचे मुख्यमंत्री को आज अलग अलग शिक्षक संगठनों ने सामूहिक रूप से ज्ञापन सौंपा। डॉ मुकेश कुमार के मार्गदर्शन में मुख्यमंत्री को शिक्षाकर्मियों व एल बी संवर्ग के सभी मांगो को पूरा करने ज्ञापन सौपा। ज्ञापन में इन मांगों को शामिल किया गया

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

1.प्रमुखता से स्थानांतरण से वरिष्ठता प्रभावित समस्त वर्ग के शिक्षक प /एल बी संवर्ग E,T के लिए जो गैर वित्तीय मामले है म.प्र. राजपत्र पर प्रकाशित स्कूल शिक्षा सेवा शर्त व भर्ती नियम 2018 प्रथम नियुक्ति से वरिष्ठता का प्रावधान करते पदोन्नति/क्रमोन्नति देने की तरह छ ग में भी प्रथम नियुक्ति तिथि से वरिष्ठता का प्रावधान करने राजपत्र पर संसोधन करने व दिशा निर्देश जारी करने के पश्चात ही प्राचार्य व प्रधानपाठक के पदों पर शीघ्र पदोन्नति करने की मांग ।

.2 संविलयन से वंचित समस्त शिक्षाकर्मियों का शीघ्र संविलयन आदेश जारी करने
3. स्थानांतरण मामले में वर्ष 2007-08 में खुली स्थानांतरण नीति लागू की गई थी जिसे एक बार पुनः लागू कर सभी 8वर्ष से कम वाले शिक्षाकर्मियों को भी स्थानांतरण का अवसर देने व स्थानांतरण से रिक्त व स्वीकृत पदों पर शीघ्र बेरोजगारों की भर्ती करने
4. वर्ग- 03(सहायक शिक्षक प/एल बी) जो प्राथमिक स्कूल में शिक्षा का नीव रखते है वेतन विसंगति दूर कर जो घोषणा पत्र में शामिल है उन्हें पूर्ण सम्मान देते हुवे मांग को पूरा करने ।
5. लंबे समय से जो लगभग 20 वर्षो से भी पदोन्नति से वंचित है सहा .शिक्षक/शिक्षक/व्याख्याता एल. बी. का क्रमोन्नत वेतनमांन का लाभ देने ।
6. स्वयं के व्यय से प्रशिक्षण बी.एड ,डी. एड किये शिक्षको को 2 वेतन वृद्धि जा लाभ देने
7. दिवंगत शिक्षाकर्मी के परिवार के सदस्य को अनुकंपा नियुक्ति करने के मामले जिसमे बी एड ,डी एड ,डी एल एड की अनिवार्यता को समाप्त करते हुवे परिवार के सदस्य को शासकीय पदों पर भर्ती करने ।
8. सभी अधिकारी,कर्मचारी शिक्षक प /एल बी संवर्ग के लिए वर्तमान में लागू नए वृत्ति योजना (nps) की जगह पुराने वृत्ति योजना को लागू करने की मांग ।
9. इसके साथ ही हाई स्कूल विषय सेटप में आंशिक संसोधन कर भौतिक और रसायन का भी पद सृजित कर नियुक्ति व पदोन्नति करने की मांग की गई है क्योंकि हाई स्कूल विषय -विज्ञान व गणित(9वी 10वी) में क्रमशःसिर्फ बायो व सिर्फ गणित और हायर सेकेंडरी (11वी 12) बायो व गणित में भी सिर्फ बायो व सिर्फ गणित वालो को नियुक्ति , पदोन्नति का दोहरा लाभ शासन दे रही है जबकि भौतिक व रसायन वाले कई संस्थाओ में हाई स्कूल विषय (9वी 10वी) का अध्यापन कार्य कर रहे है जिस विषय विज्ञान व गणित में स्थानांतरण नियुक्ति ,पदोन्नति करते ही नही है जो संवैधानिक नियम के विपरीत है ।
दूसरा पहलू यह भी है कि हाई स्कूल विषय- विज्ञान(9वी 10 वी)में सिर्फ बायो वालो को नियुक्ति करते है जो गणित का पद रिक्त रहने या गणित वाले कि अनुपस्थिति में गणित अध्यापन करने की छमता ही नही रखते है जिससे छात्रों का अहित होता है । जबकि भौतिक /रसायन वाले गणित और विज्ञान दोनो अध्यापन करने की छमता रखते है उन्हें न तो विज्ञान में नियुक्ति करते है न गणित में इसलिये छात्र हित में सेटअप मे आंशिक संसोधन कर भौतिक और रसायन विषय वालो को भी हाई स्कूल में नियुक्ति व पदोन्नति के लिए शिक्षण संचालनालय व सभी जिले के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और जिला शिक्षा अधिकारी के लिए सीघ्र आदेश जारी करने की मांग की गई है ।हाई स्कूल में भौतिक रसायन की नियुक्ति होने से 9 वी 10 वी से ही भौतिक रसायन का बेस मजबूत ,नजदिक के हाई स्कूल में नियुक्ति , अध्यापन लाभ 9वी 10 वी का सिर्फ 2 ही कालखंड,संख्या बढ़ने से मैंचुअल स्थानांतरण जल्द मिलेंगे , भौतिक रसायन बेरोजगार को नियुक्ति का चांस इत्यादि कई समस्याएं स्वतः दूर होगी ।
10. सभी जिले के जिला व विकाशखण्ड मुख्यालय के कॉलेज में अनिवार्य रूप से भौतिक रसायन PG क्लास शुरू करने व प्राध्यापक नियुक्ति करने की मांग की गई है इससे स्कूल में शिक्षक संसाधन आसानी से उपलब्ध होगा जिससे शिक्षा के स्तर में सुधार होगा।
ज्ञापन सौपते समय स्थानांतरित संगठन के जिला संचालक रविन्द्र कुमार कोसरे ,एस पी निषाद, टीकम हिरवानी , सावित्री बैस ललित साहू इत्यादि उपस्थित थे ।

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.