शिक्षाकर्मियों के मुद्दे पर फेसबुक लाइव में छाए ओपी चौधरी….. कमेंट में शिक्षाकर्मियों ने जताया विश्वास……भूपेश बघेल की सरकार ही देगी संविलियन की सौगात

रायपुर 29 नवंबर 2019. प्रदेश में शिक्षाकर्मियों का मुद्दा सबसे अधिक छाया हुआ है और इस मुद्दे को लेकर विधानसभा में पंचायत मंत्री टी एस सिंहदेव द्वारा जो जानकारी दी गई जिसके अनुसार 8 वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाले शिक्षाकर्मियों का संविलियन किया जाएगा जो वर्तमान नियम में प्रचलित है उसे लपकते हुए रायपुर के पूर्व कलेक्टर और वर्तमान भाजपा नेता ओपी चौधरी ने कल पोस्ट जारी करके वादे के मुताबिक 2 वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके शिक्षाकर्मियों के संविलियन का अनुरोध किया था ।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

उनके पोस्ट को लेकर जिस प्रकार का प्रतिसाद उन्हें मिला उसे देखते हुए उन्होंने आज शिक्षाकर्मियों के संविलियन, क्रमोन्नति और अनुकंपा नियुक्ति जैसे मुद्दों को लेकर फेसबुक लाइव किया जिसे भी जबरदस्त समर्थन मिला । फेसबुक लाइव के दौरान ही 10000 से अधिक शिक्षाकर्मियों ने इसे देखा और सैकड़ों की संख्या में लिंक शेयर करते हुए कमेंट किया ।

ओपी चौधरी ने अपनी बात की शुरुआत शिक्षाकर्मी इतिहास से की जिसमें दिग्विजय शासनकाल में शिक्षकों से इतर शिक्षाकर्मी भर्ती प्रक्रिया शुरू करने से लेकर बाद में धीरे-धीरे भाजपा द्वारा नियमों में संशोधन करते हुए उन्हें महंगाई भत्ता, ट्रांसफर, समयमान वेतनमान, पुनरीक्षित वेतनमान और पदनाम चेंज करने जैसी सुविधाओं का उल्लेख किया । उन्होंने कहा कि वर्तमान में सरकार जो नई भर्ती करने जा रही है वह इसीलिए कर पा रही है क्योंकि तत्कालीन भाजपा सरकार ने असंभव को संभव करते हुए शिक्षाकर्मियों को संविलियन की सौगात दी।

इसके साथ ही साथ ओपी चौधरी ने 2018 के हड़ताल में बतौर कलेक्टर अपनी भूमिका के बारे में भी जानकारी देते हुए कहा की शिक्षाकर्मी नेताओं के साथ किसी प्रकार का कोई दुर्व्यवहार नहीं किया गया था जिसकी पुष्टि उनसे बातचीत करके भी की जा सकती है और उस समय एक सौहार्दपूर्ण वातावरण में चर्चा हुई थी जिसमें यह तय हुआ था कि शिक्षाकर्मी नेता हड़ताल वापस लेंगे और बदले में सरकार उन्हें बड़ा सौगात देगी जो दिया भी गया । उन्होंने भूपेश सरकार से गुजारिश की कि जिस प्रकार सरकार ने अपने घोषणा पत्र में 2 वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके शिक्षाकर्मियों के संविलियन का वादा किया है उसे तत्काल पूरा करें और उसके बाद ही नई भर्ती के विषय में सोचें साथ ही क्रमोन्नति देने का जो वादा किया गया है उसे भी पूरा किया जाए इसके अलावा अनुकंपा नियुक्ति जो एक संवेदनशील मामला है उसमें भी नियमों को शिथिल करते हुए ऐसे पीड़ित परिवारों को नौकरी देने का रास्ता निकाला जाए ।

हिट रहे ओपी…. लेकिन शिक्षाकर्मियों को विश्वास भूपेश बघेल ही देंगे सौगात

पूर्व कलेक्टर ओपी चौधरी अपनी इस नई भूमिका में भी पूरी तरह सफल नजर आ रहे हैं और उनके कार्यक्रम को शिक्षाकर्मियों ने हाथों हाथ लिया है और जिस प्रकार की पहल उन्होंने की है इसके लिए उन्हें धन्यवाद भी देते हुए नजर आए लेकिन अधिकांश शिक्षाकर्मियों ने यह विश्वास जताया है की वर्तमान भूपेश बघेल सरकार अपने संविलियन का वादा अवश्य पूरा करेगी । जितने भी शिक्षाकर्मियों ने कमेंट किया है उसमें उन्होंने पूर्व कलेक्टर ओ पी चौधरी को धन्यवाद देते हुए यह बात लिखी है कि उन्हें भूपेश बघेल सरकार पर पूरा विश्वास है कि इस बार का बजट सत्र उनके द्वारा किए गए वादे के मुताबिक उनके लिए ही रहेगा और खासतौर पर संविलियन का वर्ष बंधन तो अवश्य समाप्त होगा।

इस फेसबुक लाइफ में भी सबसे अधिक संख्या में संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मी ही नजर आए जिन्होंने पिछले कुछ दिनों से लगातार संविलियन के लिए अभियान छेड़ रखा है और जिनको विधायकों से लेकर पीसीसी चीफ तक से आश्वासन मिल चुका है और जो बिना स्कूल बंद किए अपनी मांगों से सरकार को अवगत करा रहे हैं। ओपी चौधरी की यह पहल शिक्षाकर्मियों को कितना लाभ पहुंचाती है यह तो आने वाले समय में पता चलेगा लेकिन ओपी चौधरी ने शिक्षाकर्मियों के साथ खड़े होकर अपनी फैन फॉलोइंग में जरूर बड़ा इजाफा कर लिया है यह तय है।

ये वीडियो भी देखें…

Get real time updates directly on you device, subscribe now.