अफसर- नेताओं की रसूख की धौंस दिखा चलाते थे ये ठगी का कारोबार :….नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश… सरगना सहित 3 लोगों को किया गया गिरफ्तार…

बलौदाबाजार 30 नवंबर 2019। ….एक बार फिर छत्तीसगढ़ के युवाओं को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का शिकार होना पड़ा है। 48 घंटे पहले राजधानी में नौकरी के गोरखधंधे का खुलासा होने के बाद बलौदाबाजार पुलिस ने भी ठगी के एक शातिर गिरोह को बेनकाब किया है। ये गिरोह बेरोजगार युवकों को सरकारी नौकरी दिलाने का लालच देकर उसे ठगी का शिकार बनाया करता था। जानकारी के मुताबिक पकड़ में आये गिरोह ने अब तक दर्जनों युवकों से पैसे ठगे थे और उन्हें नौकरी दिलाने के लिए इधर-उधर बहला रहा था।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के पास से 50 हजार रुपये नकद के साथ-साथ लैपटॉप और मोबाइल भी जब्त किये हैं। जानकारी के मुताबिक ग्रामीण परिवेश के युवकों को ये गिरोह अपना शिकार बनाता था, पहले उनके बारे में जानकारी इकट्ठा कर मंत्रालय में नौकरी दिलाने का लालच दिया करता था। धौंस दिखाने के लिए गिरोह के लोग खुद को रसूखदार और बड़े नेताओं और अफसरों का करीबी भी बताया करते थे।

इस मामले में बलौदाबाजार पुलिस ने शिकायत के आधार जांच शुरू की और रैकेट के सरगना कोरबा के चंद्रशेखर पांडेय को गिरफ्तार किया। उसी की निशानदेही पर पुलिस ने बिलासपुर से दो युवक नवीन तिवारी और कपिलेश्वर पुरी को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस को अनुमान है कि ठगी के नाम पर इस गिरोह ने अब तक लाखों रुपये वसूले हैं।

 

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.