व्याख्याता भर्ती प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी और नियमानुसार…स्कूल शिक्षा विभाग ने कहा-वेरिफीकेशन में किसी भी अनुपस्थित अभ्यर्थी को नहीं बताया गया पात्र

रायपुर, 03 दिसम्बर 2019. स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा व्याख्याता भर्ती कार्रवाई में शासन के नियम-निर्देशो का पालन किया जा रहा है। भर्ती प्रक्रिया में विभाग द्वारा पूरी पारदर्शिता, सतर्कता और तत्परता से कार्य किया जा रहा है। स्कूल शिक्षा विभाग ने व्याख्याता भर्ती प्रक्रिया के संबंध में बताया कि वेरिफीकेशन में किसी भी अनुपस्थित अभ्यर्थी को पात्र नहीं बताया गया है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

अधिकारियों ने बताया कि किसी भी अभ्यर्थी के पते में अन्य जिला नहीं लिखा गया है- आवेदक के द्वारा आनलाईन आवेदन तथा ओ.एम.आर. शीट में जो प्रविष्टि की गई है उसी जानकारी के आधार पर पता व अन्य जानकारी अंकित की गई है। एक ही वर्ष में डिस्टेंस व रेगुलर डिग्री लेने वालों को अपात्र किया गया है। इस संबंध में यू.जी.सी. एक्ट 2003 और यू.जी.सी. की सूचना 3 फरवरी 2016 का पालन किया जा रहा है तथा उच्च शिक्षा विभाग से मार्गदर्शन मांगा गया है। आवेदन के पूर्व विज्ञापन की शर्तों में उल्लेखित बिन्दु और शासन एवं यू.जी.सी. के निर्देशानुसार पात्रता का परीक्षण किया जा रहा है। अपात्र होने का कारण बताते हुए दावा आपत्ति आमंत्रित किया गया है। विज्ञापन की शर्तों में उल्लेखित है कि आवेदक छत्तीसगढ़ का मूल निवासी होना आवश्यक है अतः अन्य राज्य के आवेदकों को अपात्र किया गया है।

छत्तीसगढ़ व्यापम के माध्यम से आवेदन करते समय आवेदकों के द्वारा स्वयं की योग्यता और जानकारी अंकित की गई है, किन्तु दस्तावेज के आधार पर इसका सत्यापन वर्तमान में किया जा रहा है। जानकारी में भिन्नता होने अथवा दस्तावेज न होने के आधार पर अपात्र किया गया है। इसकी सूचना आवेदकों को पोर्टल के माध्मय से दी गई है। इस प्रकार विभाग द्वारा पूरी पारर्शिता, सर्तकता और तत्परता से कार्य किया जा रहा है। इसके साथ ही पात्र आवेदकों को उचित अवसर मिल सके इिसके लिए प्रयास किया जा रहा है।

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 6 विषयों में व्याख्याता के 3177 रिक्त पदों की पूर्ति के लिए विज्ञापन जारी किया गया था। इसकी परीक्षा व्यापम के माध्यम से आयोजित कर परीक्षा परिणाम घोषित किया गया। घोषित परीक्षा फल में आवेदक को प्राप्त अंक और इसके आधार पर ई और टी रैंक की वरीयता प्रदान की गई है। विज्ञापित पदों में आरक्षण रोस्टर के अनुसार आवेदकों को उनके प्राप्तांक और ओवरऑल रैंक के आधार पर दस्तावेज सत्यापन के लिए 5 नवम्बर 2019 से 11 नवम्बर 2019 तक शासकीय शिक्षक शिक्षण महाविद्यालय रायपुर में बुलाया गया था। दस्तावेज सत्यापन के आधार पर पात्र और अपात्र अभ्यार्थियों की अंनतिम सूची जारी करते हुए दावा आपत्ति 25 नवम्बर से 30 नवम्बर 2019 तक आमंत्रित किया। दस्तावेज सत्यापन और दावा आपत्ति निराकरण के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की समिति गठित कर परीक्षण कार्य किया जा रहा है। व्याख्याता भर्ती संबंधी पूरी प्रक्रिया में विज्ञापन की शर्तों तथा शासन के नियम-निर्देशों का पालन किया जा रहा है। वर्तमान में भर्ती की कार्रवाई प्रचलन में है, कार्रवाई के प्रत्येक स्तर पर पारदर्शिता के लिए पोर्टल और प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से सूचना प्रकाशित की जा रही है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.