पूर्व डिप्टी CM के घर पर IT की बड़ी छापेमारी, 4 करोड़ से अधिक की रकम बरामद… आयकर के 300 अधिकारी जुटे हैं इस काम में… 30 ठिकानों पर चल रही है कार्रवाई….

बेंगलुरु 11 अक्टूबर 2019। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में आयकर विभाग ने पूर्व डेप्युटी सीएम जी परमेश्वर और उनके सहयोगियों के ठिकानों पर छापे मारे हैं। सिद्दरमैया ने इसे राजनीति से प्रेरित बताया। पूर्व केंद्रीय मंत्री आर एल जलप्‍पा के मेडिकल कॉलेज और अस्‍पताल पर भी छापेमारी की गई।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

बताया जा रहा है कि कांग्रेस नेता के ट्रस्ट से संबद्ध कॉलेजों के समूह में कथित अनियमितताओं को लेकर आईटी विभाग ने गुरुवार सुबह छापे मारे। सूत्रों के मुताबिक तकरीबन साढ़े छह बजे आईटी अधिकारियों ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया। आरोप है कि ग्रुप ने मेडिकल और इंजिनियरिंग कॉलेजों में ऐडमिशन के जरिए अवैध तरीके से काफी पैसा इकट्ठा किया हुआ था।

आयकर के 300 अधिकारी जुटे हैं इस काम में

300 से अधिक आयकर अधिकारियों ने  इस छापेमारी  को अंजाम दिया।  पूर्व उपमुख्‍यमंत्री जी परमेश्‍वर व पूर्व सांसद आरएल जलप्‍पा के ठिकानों पर छापेमारी की गई। मेडिकल सीटों को 50-60 लाख रुपये में बेचे जाने की खबर के बाद आयकर विभाग की ओर से छापेमारी की गई है। विभाग की ओर से जानकारी दी गई कि छापेमारी के बाद बड़ी रकम और कई ऐसे कागजात बरामद किए गए हैं जो मेडिकल नामांकन में कथित अनियमितताओं को साबित करते हैं। पूर्व डिप्टी सीएम जी परमेश्वर के 30 ठिकानों पर दूसरे दिन भी आयकर विभाग की छापेमारी जारी है. पहले दिन की छापेमारी के दौरान आयकर विभाग ने 4.52 करोड़ रुपये बरामद किए।

टैक्स चोरी के मामले में हो रही है कार्रवाई

आयकर विभाग के अधिकारियों ने बताया कि परमेश्वर और जालप्पा पर नीट परीक्षा में अनियमितता करके करोड़ों रुपए की टैक्स चोरी करने के मामले में कार्रवाई हो रही है। इनकम टैक्स और पुलिस की टीमें कर्नाटक के 30 परिसरों में छापेमारी कर रही है, तो वहीं राजस्थान समेत अन्य राज्यों की संपत्तियों पर भी छापा मारा गया है।

टुमकुरु के दो मेडिकल कॉलेजों में हुई हेराफेरी

टुमकुरु शहर में परमेश्वर के चेयरमैनशिप वाले ट्रस्ट के दो मेडिकल कॉलेजों में नीट परीक्षा के दौरान कथित पर अनियमितता हुई थी। नीट परीक्षा में विद्यार्थियों को पास कराने के लिए कथित तौर पर परीक्षार्थियों के बदले दूसरे लोगों ने परीक्षा दी और गैर कानूनी ढंग से बड़ी रकम का लेनदेन हुआ। आयकर विभाग इस मामले की जांच कर रहा है।

परमेश्वर बोले- मालूम नहीं, क्यों छापेमारी हो रही है

वहीं इस मामले पर जी परमेश्वर का कहना है, ‘मुझे छापेमारी की जानकारी नहीं है. मुझे नहीं पता कि वे छापेमारी कहां कर रहे हैं. उन्हें तलाशी लेने दें, मुझे कोई दिक्कत नहीं है. अगर हमारी तरफ से कोई गलती होगी तो इसे सुधारेंगे.’

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.