शराबियों को गाली-गलौज करने से रोका तो पूरे परिवार को पीट-पीटकर कर दिया अधमरा…. 14 घंटे बाद भी पुलिस ने दर्ज नहीं किया FIR…. घायलों में 3 की हालत नाजुक…

रायपुर 30 अक्टूबर 2019। पियक्कड़ों को घर के सामने हंगामा करने से मना किया तो पूरे परिवार को लाठी-रॉड से मारकर लहुलुहान कर दिया। दिपावली की खुशियों के बीच खून खराबे की ये खबर खरोरा की है। दारूबाजों की टोली के हमले में सात लोग गंभीर हो गये है, जिनमें से तीन की हालत नाजुक बतायी जा रही है। सभी को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गंभीर रूप से घायल तीन लोग ICU में भर्ती है। कमाल की बात ये है कि 14 घंटे बाद जब अधिकारियों तक पूरी घटना की जानकारी पहुंची, तो पुलिस जागी और अब जाकर कागजी कार्रवाई की जा रही है। इधर हमले में परिवार की दो महिला, एक बुजूर्ग सहित सात लोग घायल हो गये है। पीड़ित परिवार रिपोर्ट दर्ज कराने के लिये खरोरा थाना से लेकर रायपुर तक दर दर भटक रहा है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

जानकारी के मुताबिक रायपुर निवासी विश्वप्रकाश वर्मा रायपुर के रहने वाले हैं और इनका पैतृक गांव खरोरा के घोर भटटी में है। दिवाली की रात त्यौहार मनाने के लिये अपने गांव गये हुये थे। 29 अक्टूबर को पीड़ित के घर के बगल में मातर का कार्यक्रम चल रहा था। विश्वप्रकाश वर्मा के परिवार के सभी लोग मातर का कार्यक्रम देख रहे थे। उस दौरान गांव के ही कुछ शराबी युवक ने हंगामा और गाली-गलौज शुरू कर दी। वर्मा ने इन युवकों को को हंगामा करने से मना किया, जिसके बाद आरोपियों और विश्वप्रकाश वर्मा के बीच जमकर विवाद हुआ। विवाद शांत होने के बाद आरोपी वहां से चले गये।

घटना वाली रात आरोपियों ने अपने साथ गांव के 15 से 20 युवकों को लेकर पहुंचा। सभी आरोपी हाथों में लाठी, डंडा, सब्बल और फरसा रखे हुये थे। आरोपी गाली गलौज करते हुये विश्वप्रकाश वर्मा के घर घुस गये और बुजुर्ग और महिलाओं पर हमला करते हुये जमकर मारपीट की गयी। आरोपियों ने बीच बचाव में आये वर्मा परिवार के बुजूर्ग और महिलाओं समेत बच्चों को भी लहुलुहान कर दिया। हमले में परिवार के बुजुर्ग और पुत्र सहित तीन को गंभीर चोट आयी है। वहीं दो महिलाओं समेत परिवार के सात लोग घायल हो गये है। हमले में घायल बुजुर्ग केज राम वर्मा, पुत्र आकाश वर्मा, और पत्नी दुर्गा वर्मा को आईसीयू में रखा गया है।

मामले में पीड़ित विश्वप्रकाश वर्मा ने बताया है कि घाटना के 14 घंटे बीत जाने के बाद भी थाना खरोरा के तरफ से रिपोर्ट दर्ज नहीं की गयी है। जब इस पूरे घटना की जानकारी रायपुर के उच्च अधिकारियों को हुई तो तब जकर आज दोपहर मेें हमे थाने बुलाकर रिपोर्ट दर्ज की जा रही है। पीड़ित ने कहा कि हमले में पिता सहित भाई भी गंभीर रूप से घायल हैं जिन्हें आईसीयू में रखा गया है। आरोपी घटना के बाद से ही गांव में घुम रहे है। पीड़ित परिवार ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी कर सभी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.