IAS सोनमणि बोरा बने छत्तीसगढ़ रेड क्राॅस सोसाइटी के नए चेयरमैन, रेड क्राॅस सोसाइटी को पुनर्जीवित करने राज्यपाल का प्रयास

रायपुर, 7 नवंबर 2019। राज्यपाल के सचिव सोनमणि बोरा को छत्तीसगढ़ रेड क्र्राॅस सोसाइटी के चेयरमैन बनाया गया है। राज्यपाल अनसुईया उइके के निर्देश पर राजभवन र्की िडप्टी सिकरेट्री ने आज इसका आदेश जारी कर दिया। आदेश मेें लिखा है, बोरा वर्तमान कर्तव्यों के साथ रेड क्राॅस के चेयरमैन का पद भी संभालेंगे।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

राज्यपाल की दिलचस्पी से बरसों बाद रेड क्राॅस अब फंक्शन मंें आएगा। केएम सेठ जब तक राज्यपाल रहे, रेड क्राॅस सोसाइटी द्वारा खूब कार्य किए गए। जांजगीर मेें रेडक्राॅस का अस्पताल भी बनवाया गया था। रायपुर में ब्लड बैंक से लेकर रेडक्राॅस भवन भी केएम सेठ के कार्यकाल में बनें। रेड क्राॅस के पैसे से मुख्य सचिव आरपी मंडल जब बिलासपुर में कलेक्टर थे, उन्होंने गरीबों के इलाज से लेकर विभिन्न सामाजिक कार्य करवाए। तब हर साल कलेक्टरों की एक ईयरली मीट होती थी, जिसमें रेडक्रास में बेहतर काम करने वाले कलेक्टरों को पुरस्कृत किया जाता था।

सेठ के राज्यपाल से हटने के बाद रेड क्राॅस एक तरह से कहें तो मृतप्राय जैसे हो गया था। लोगों को अब पता भी नहीं कि छत्तीसगढ़ में रेड क्राॅस जैसी कोई चीज है भी। कलेक्टर भी रेडक्राॅस को भूल गए थे।
अब चूकि राज्यपाल इसमें दिलचस्पी ले रही हैं। और बिलासपुर, रायपुर कलेक्टर के रूप में रेड क्राॅस में उत्कृष्ट कार्य कर चुके आरपी मंडल अब मुख्य सचिव हैं, ऐसे मेें समझा जाता है, रेड क्राॅस अब पुनर्जीवित होकर फिर से पहले जैसे स्वरूप में आ जाएगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.