शिक्षाकर्मियों के संविलियन के लिए करूँगा प्रयास – विनय भगत

जशपुर 7 नवंबर 2019। संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मी अपने संविलियन की मांग को लेकर अब सोशल मीडिया के बाद जमीन पर उतर चुके हैं । संविलियन अधिकार मंच के प्रदेश संयोजक विवेक दुबे द्वारा तय की गई रणनीति के अनुसार हर जिले के संयोजक अब अपनी टीम के साथ विधायकों से मिलकर चर्चा कर रहे है और उन्हें ज्ञापन सौंपकर चुनाव पूर्व जनघोषणा पत्र में किये गए वादे की याद दिलाते हुए संविलियन करने की मांग रख रहे है । इसी कड़ी में संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों ने जिला संयोजक आशुतोष शर्मा के नेतृत्व में जशपुर विधायक विनय भगत से मुलाकात करके संविलियन हेतु ज्ञापन सौंपा और संविलियन न होने के चलते हो रही परेशानियों से अवगत कराया । उन्होंने बताया कि पंचायत विभाग में काम कर रहे शिक्षाकर्मियों को न तो समय पर वेतन मिलता है , न 3 साल से महंगाई भत्ता दिया गया है और न ही उनके लिए कोई ट्रांसफर नीति है और न ही अनुकम्पा नियुक्ति का समुचित प्रावधान है और इन सब समस्याओ का एकमात्र हल संविलियन ही है जिसका कांग्रेस ने वादा भी किया है ।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

शिक्षाकर्मियों की बात सुनने के बाद विधायक विनय भगत ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह उनकी तरफ से प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से चर्चा करेंगे और उनके संविलियन के वादे को पूरा करवाने के लिए प्रयास करेंगे । उन्होंने कहा कि सरकार आपके साथ है और आपके पक्ष में निर्णय लिया जाएगा ।

साथ ही जिले के शिक्षाकर्मियों की स्थानीय समस्या जैसे शिक्षाकर्मियों का 2 वर्ष पूर्ण होने के बावजूद नियमितिकरण न होने और 7 वर्ष पूर्ण होने के बाद भी समयमान वेतनमान न मिलने के मुद्दे पर भी उन्होंने इस समस्याओं को कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ से बात करके निराकरण करने का भरोसा दिलाया ।

विधायक विनय भगत से मुलाकात करने वालो में जिला संयोजक आशुतोष शर्मा के साथ विकास प्रधान , अनुदीप मिंज , लोचन साहू , ज्ञान प्रकाश एक्का , अनुराधा भगत , समीर बखला , संदीप भगत , राम प्रसाद जायसवाल , सुनील कुमार , प्रियन खेस्स , अजय , छाया पटेल , जयंती , रूपावती कुजूर , बिकेश टोप्पो , समीर बड़ा , सुमन क्षत्री , विनायक गुप्ता शामिल थे ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.