DEO से खामियों वाले नामों की सूची संचालक को भेजी….तबादला सूची में गड़बड़ियों पर फैसला अब सरकार लेगी….. बिलासपुर से 51 शिक्षकों की सूची भेजी गयी… देखिये किनका-किनका है नाम

रायपुर 2 सितंबर 2019। …तबादले के पीछे चले खेल का तिलिस्म अभी टूटा नहीं है। राज्य सरकार ने ये फैसला लिया है कि जिन शिक्षकों का एक से ज्यादा स्कूलों में हो गया है या फिर एक ही स्कूल में खाली पद के विरुद्ध एक से ज्यादा शिक्षकों का तबादला हुआ है, उन सभी का फैसला अब राज्य सरकार अपने स्तर पर करेगी। खबर है कि बिलासपुर जिले से कुल 51 शिक्षकों को संचालक के पास भेजी गयी है।  सभी DEO से इस बाबत DPI ने रिपोर्ट तलब की है, जो संचालक के जरिये राज्य सरकार को भेजी जायेगी। माना जा रहा है कि लिस्ट जिलों से आने से बाद राज्य सरकार ये फैसला लेगी कि शिक्षकों का तबादला निरस्त किया जायेगा, या फिर आवेदन के आधार पर जरूरतमंदों को उस जगह पर पोस्टिंग दी जायेगी।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

DPI एस प्रकाश ने NPG को बताया कि …

“जिस शिक्षकों के ट्रांसफर में विवाद की स्थिति बनी थी या फिर जिन शिक्षकों का तबादला एक से ज्यादा स्कूलों में हो गया था, एक ही खाली पद के विरुद्ध एक से ज्यादा शिक्षकों का तबादला हुआ था, उनका फैसला शासन स्तर पर लिया जायेगा, डीईओ से लिस्ट मांगी गयी है”

इधर डीपीआई के निर्देश के बाद जिला स्तर पर विवादित ट्रांसफर की सूची बनायी जा रही है, सोमवार-मंगलवार तक ये सूची डीपीआई को भेज दी जायेगी, जिसके बाद एक-दो दिनों उन तबादलों को लेकर फैसला लिया जायेगा। बिलासपुर के डीईओ आरएन हीराधर ने बताया कि

“जिन शिक्षकों के तबादले में गड़बड़ियों की शिकायत थी, उनकी सूची मांगी गयी है, हमलोग नामों की सूची डीपीआई को भेज रहे हैं, वहीं ये फैसला होगा, कि क्या करना है”

दरअसल राज्य स्तरीय ट्रांसफर में बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां सामने आयी थी, कहीं कन्या स्कूल में पुरुषों का तबादला हुआ था, कई शिक्षकों का एक ही तबादला सूची में तीन से चार बार नाम अलग-अलग स्कूलों के सामने दर्ज कर दिया गया था। वहीं जहां पद एक या दो स्वीकृत थे, वहां तीन से चार शिक्षकों के तबादले कर दिये गये। यही नहीं एक नहीं कई और भी गड़बड़ियां इस तरह की सामने आयी थी। राज्य स्तर पर तबादला सूची में गड़बड़ी को लेकर खूब किरकिरी भी हुई थी। जिसे अब सुधारने की बात कही जा रही है।

 

देखिये किन शिक्षकों की लिस्ट भेजी गयी है संचालक के पास – यहां क्लिक कीजिये 

 

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.