शिक्षकों के प्रमोशन से पहले विषय विकल्प के पद को रिक्त करने की मांग…. शिक्षक फेडरेशन ने कहा… नियमों में लचरता की वजह से वर्ग तीन के शिक्षक आज मूल लाभ से हो रहे हैं वंचित

रायपुर 1 दिसंबर 2019। छ.स.शि.फेडरेशन के अध्यक्ष मनीष मिश्र एवं प्रांतीय प्रवक्ता-हुलेश चंद्राकर,बसंत कौशिक ने संयुक्त बयान जारी कर राज्य सरकार के सामने एक मांग रखी है। फेडरेशन ने कहा है कि मिडिल स्कूलों में कई वर्षो से मूल विषय विज्ञान,अंग्रेजी जैसे कई विषय के पद आज भी रिक्त है| पर उसे विषय विकल्प के रूप में कला के शिक्षकों के द्वारा अध्यापन कराया जा रहा है, जिससे प्राथमिक स्कूलों में पढाने वाले शिक्षक जो उक्त विषय में स्नातक,स्नातकोत्तर की डिग्री हाथ में धरे 7 साल पुरे कर चुके है| और आज पर्यन्त 10-15 साल से प्रमोशन की राह देख रहे है…अकेले धमतरी जिला में लगभग 80-100ऐसे पद है, जिसे कला के शिक्षकों के द्वारा विज्ञान या अंग्रेजी विषय को पढ़ाया जा रहा तत्कालीन समय मुख्य सचिव एम के राउत ने विषय शिक्षको के पद नहीं होने के चलते एक व्यवस्था के तहत विकल्प के तौर पर अध्यापन करने कहा गया,जिसके बाद इसे रिक्त मानते हुए मूल विषय में गणना किया जाने की बात कही गई पर आज पुरे प्रदेश में प्रमोशन के लिए रिक्त पद बहुत ही कम बताया जा रहा, जबकि विकल्प वालों के मूल विषय और वर्तमान में पढ़ाये जाने वाले विकल्प विषय की जानकारी विभाग से पहले मंगाये और उक्त विकल्प के पद को रिक्त मानते हुए….प्रमोशन के लिए रिक्त पद (विषय विकल्प) की जानकारी समस्त डीइओ से प्राप्त कर वर्ग-3 के योग्य शिक्षको को लाभ प्रदान कर व्यवस्था सुधारे….नहीं तो वर्ग 3 के योग्य शिक्षक जो उक्त विषय में प्रमोशन से आगे बढना चाहता है,तत्कालीन समय में शासन- प्रशासन की सुस्ती या ये कहे की जानकारी के आभाव के चलते वर्ग-3 लाभ से वंचित हो गया है….छ.ग.शिक्षा सचिव और प्रदेश शिक्षा मंत्री से निवेदन करते हुए पुरे प्रदेश में मूल विषय के जितने भी पद जिसे विकल्प के रूप में व्यवस्था किया गया है, की जानकारी पहले एकत्रित करे…ताकि प्रमोशन सही रूप से वर्ग-3 को दिया जा सके..जिससे सहायक शिक्षकों को न्याय मिल सके।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

Get real time updates directly on you device, subscribe now.