नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस का दबदबा, राजस्थान में बीजेपी दूसरे नम्बर पर…

जयपुर 19 नवंबर 2019. शहरी निकाय चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को चित्त कर दिया है, शहरी निकायों में कांग्रेस ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। शहरी निकाय चुनावों के इन नतीजों ने गहलोत सरकार के 11 महीने के कामकाज पर जनता ने मुहर लगा दी है। राज्य निर्वाचन विभाग की वेबसाइट के अनुसार परिणाम आने के बाद सभी 2,105 वार्डों में स्थिति साफ हो गई है। इन परिणाम के अनुसार कुल मिलाकर बात की जाए तो कांग्रेस के 961, भाजपा के 737, बसपा के 16, माकपा के तीन, एनसीपी के दो प्रत्याशी जीते हैं। परिणामों में रोचक बात यह है कि 386 वार्डों में निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है जो कई जगह बोर्ड बनाने में बड़ी भूमिका निभाएंगे।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

निकाय चुनाव के परिणामों पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि उम्मीद यही थी, अपेक्षा यही थी, उसके अनुकूल ही परिणाम आए हैं। यह बहुत प्रसन्नता की बात है कि जनता ने मैंडेट दिया है। यह सोच कर के की सरकार जिस रूप में परफॉर्म कर रही है उस दिशा में हम आगे बढ़ रहे हैं, हम चाहेंगे कि जो समस्या शहर की भी है उनको प्रायरिटी से हल करें। जनता ने विश्वास प्रकट किया है उनकी अपेक्षा और आशाओं के अनुरूप सरकार काम करे।

कांग्रेस सरकार के 11 महीने के कार्यकाल पर भी इसे जनता की मुहर के तौर पर देखा जाएगा। सीएम गहलोत राजनीतिक रूप से और अधिक मजबूत होकर उभरे हैं। कांग्रेस के अंदरूनी सत्ता समीकरणों में यह जीत बहुत मायने रखने वाली है।

बता दें कि राज्य में तीन नगर निगमों, 18 नगर परिषद और 28 नगरपालिकाओं यानी कुल 49 निकायों में सदस्य पार्षद पद के लिए शनिवार को मतदान हुआ था। चुनाव में कुल 71.53 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। इन 49 निकायों में कुल 2,105 वार्डों में चुनाव होना था जिनमें से 14 वार्डों में पार्षद निर्विरोध चुने जा चुके हैं। बाकी 2,081 वार्ड में 7,942 उम्मीदवारों ने अपना चुनावी भाग्य आजमाया जिनमें 2,832 महिलाएं व 5,109 पुरुष प्रत्याशी शामिल हैं। पार्षद चुने जाने के बाद तय कार्यक्रम के अनुसार अब नगर निकायों में अध्यक्ष का चुनाव 26 नवंबर व उपाध्यक्ष का 27 नवंबर को होना है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.