भिड़े मंत्री और एसीएस…काम के बंटवारे पर सीएम को भेजी फाइल; एसीएस का तर्क-बिजनेस रूल राज्यपाल की अनुशंसा से लागू होते हैं, मंत्री के नहीं

भोपाल, 7 नवंबर 2019। वन विभाग के अपर मुख्य सचिव एसीएस एपी श्रीवास्तव के दफ्तर में काम के बंटवारे को लेकर वन मंत्री उमंग सिंघार और श्रीवास्तव के बीच ठन गई है। एसीएस ने फाइल सीएम कमलनाथ को भेज दी है और उस पर व्यवस्था देने कहा है। एसीएस का तर्क है कि बिजनेस रूल राज्यपाल की अनुशंसा से लागू होते हैं, इसलिए कोर्ट केस में एसीएस या प्रिंसिपल सेक्रेटरी को पार्टी बनाया जाता है, मंत्री को नहीं। इसे लेकर सूबे में राजनीति गरमा गई है। दरअसल, एसीएस श्रीवास्तव की अनुपस्थिति में सिंघार ने उनके दफ्तर में कामकाज का बंटवारा कर दिया। श्रीवास्तव जब छुट्टी से लौटे तो उन्होंने फाइल सीएम को भेज दी है। सीएम कमलनाथ और चीफ सेक्रेटरी एसआर मोहंती विदेश दौरे पर हैं, वहां से लौटने के बाद ही अब कुछ निर्णय हो पाएगा।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

बिजनेस रूल के हिसाब से ही बंटवारा : सिंघार

वन मंत्री उमंग सिंघार का कहना है कि उन्होंने बिजनेस रूल के आधार पर ही कामकाम का बंटवारा किया है। बिजनेस रूल की धारा 13 में स्पष्ट रूप से उल्लेख है कि मंत्री को कामकाज के बंटवारे का अधिकार है। इस वजह से ही सचिव ने बंटवारे के आधार पर काम शुरू कर दिया है। इस मामले में यदि मुख्यमंत्री से राय ली जा रही है अच्छी बात है। नियम से हटकर कोई काम नहीं किया गया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.