कलेक्टर, एसपी की 14 को राजधानी में बड़ी बैठक, राज्य निर्वाचन आयुक्त करेंगे नगरीय निकाय चुनाव का रिव्यू, चीफ सिकरेट्री, डीजीपी भी रहेंगे बैठक में मौजूद

रायपुर, 10 नवंबर 2019। रायपुर में सूबे के कलेक्टर, एसपी की एक बड़ी बैठक होने जा रही है। बैठक 14 नवंबर को नया रायपुर के अरण्य भवन के कांफ्रेंस हॉल में होगी।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर राम सिंह ने यह बैठक बुलाई है। इसमें नगरीय निकाय चुनाव की तैयारियों का रिव्यू किया जाएगा। बैठक के बाद ही तय किया जाएगा कि नगरीय चुनाव कब कराया जाए। इस बैठक की अहमियत इससे समझी जा सकती है कि इसमें चीफ सिकरेट्री आरपी मंडल और डीजीपी डीएम अवस्थी भी मौजूद रहेंगे।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने एनपीजी को बताया, बैठक का मकसद नगरीय निकाय चुनाव की तैयारियां का जायजा लेना है। कलेक्टर चुनाव संबंध में जानकारी देंगे, वहीं एसपी से सुरक्षा संबंधी फीडबैक लिया जाएगा। बैठक 14 नवंबर को शाम चार बजे शुरू होगी।

आरपी मंडल के मुख्य सचिव बनने के बाद कलेक्टर, एसपी का पहली बार राजधानी में जमावड़ा लगने जा रहा है। खास बात यह है कि नगरीय निकाय चुनाव की बैठक में राज्य निर्वाचन आयुक्त के साथ सीएस खुद भी मौजूद रहेंगे। लिहाजा, कलेक्टरों की धड़कनें बढ़ गई है। जाहिर है, मीटिंग अब पहले जैसी होगी नहीं कि आंकड़ों की बाजीगरी में उलझा दें। वैसे भी, सीएस राज्य के प्रशासनिक मुखिया होते हैं। ऐसा तो है नहीं कि वह सिर्फ चुनाव पर ही बात करेंगे। किसी भी विषय पर सवाल दाग सकते हैं। उस पर भी मंडल की मीटिंग लेने की स्टाईल अलग होती है। लिहाजा, कलेक्टर कांफ्रेंस न होने के बाद भी मीटिंग का भय कलेक्टरों पर उससे ज्यादा है।

अरण्य भवन क्यों?

हालांकि, मीटिंग पहले न्यू सर्किट हाउस में होनी थी। लेकिन, अब इसे बदलकर नया रायपुर के वन मुख्यालय अरण्य भवन के कांफ्रेंस हॉल किया गया है। दरअसल, न्यू सर्किट हाउस में कांफ्रेंस हॉल छोटा है। और, नए भवन में जो हॉल बना है, वह लेक्चर हॉल जैसा है। रही बात मंत्रालय की तो वह नया जरूर है लेकिन कांफ्रेंस हॉल में जगह की काफी कमी है। कलेक्टर, एसपी को एक साथ इसमें बैठने में दिक्कत होती है। अरण्य भवन का कांफ्रेंस हॉल राजधानी का सबसे बड़ा कांफ्रेंस हॉल होगा। इसमें एक साथ सवा सौ लोग बैठ सकते हैं। फॉरेस्ट सिकरेट्री रहने के दौरान आरपी मंडल के निर्देशन में इस कांफ्रेंस हॉल की इंटीरियर प्लानिंग हुई थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने डीएफओ की बैठक भी इसी कांफ्रेंस हॉल में ली थी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.