कलेक्टर ने माना प्लास्टिक बैन पूरी तरह लागू करने में नाकाम और अपने कर्मचारियों समेत खुद पर लगाया 5000 का जुर्माना

बीड़ (महाराष्ट्र), 10 अक्टूबर 2019। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से पूरे देश में प्लास्टिक बैन करने की शुरुआत कर दी गई है। स्थानीय एजेंसियां लगातार कार्रवाई कर रही हैं। दुकानदारों पर जुर्माना लगाया जा रहा है, लेकिन एक ऐसा भी वाकया सामने आया है, जिसमें कलेक्टर ने अपने कर्मचारी और खुद पर पांच हजार जुर्माना लगाया। मामला महाराष्ट्र के बीड जिले का है। कलेक्टर आस्तिक कुमार पांडेय को उनके ही ऑफिस में एक पत्रकार ने प्लास्टिक के कप में चाय देने पर सवाल किया। कलेक्टर ने स्वीकार किया कि प्लास्टिक पूरी तरह बैन करने में वे नाकाम रहे हैं। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में सिंगल यूज प्लास्टिक उत्पादों पर पूर्ण प्रतिबंध है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

राज्य में चुनाव प्रक्रिया के बीच लोगों में जागरुकता लाने के लिए चुनाव आयोग ने भी इसे बैन किया हुआ है। विधानसभा के लिए होने वाले चुनाव प्रचार के दौरान कोई भी उम्मीदवार सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा। कलेक्टर कार्यालय में दूसरी बार जुर्माना पिछले आठ दिनों के दौरान कलेक्टर कार्यालय में प्लास्टिक बैन के उल्लंघन से संबंधित यह दूसरी घटना है, जिस पर जुर्माना लगाया गया है। इससे पहले चुनाव के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल करने आए एक उम्मीदवार द्वारा पॉलीथिन में रुपए लाने पर 5000 रुपए का जुर्माना लगाया था।

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.