वीडियो: IAS अफसरों की सुरीली आवाज से सीएम भूपेश हुए मुग्ध, ढाई घंटे तक रहे आईएएस अफसरो के बीच

रायपुर, 26 अक्टूबर 2019। आईएएस एसोसियेशन के दिवाली मिलन में सूर-संगीत की महफिल कल रात ऐसी जमी कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी उठकर जा नहीं सके। वे पूरे ढाई घंटे कार्यक्रम में रहे। प्रोटोकॉल को अलग करके वे खुद अफसरों से मिलते रहे। उनके साथ डिनर भी लिया।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे


सीमएम कल बेहद हलके मूड में थे। उन्होंने कुछ गानों की फारमाइश भी की। और अच्छे पारफारमेंस पर अपने अफसरों की हौसला अफजाई भी। आईएएस एसोसियेशन का अब तक ये पहला समारोह था, जिसमें सूबे का मुखिया आईएएस अफसरों के बीच इतना टाईम बिताए।
छत्तीसगढ़ क्लब में यह कार्यक्रम था। सीएम ठीक नौ बजे क्लब पहुंच गए थे। उनके कुछ देर बाद राज्यपाल अनसुईया उइके पहुंचीं। राज्यपाल करीब डेढ़ घंटा कार्यक्रम में रहीं। साढ़े दस बजे वे राजभवन के लिए निकल गईं। इसके बाद आईएएस अफसरों को लगा कि अब सीएम भी निकल जाएंगे। क्योंकि, इससे पहिले सीएम उनके कार्यक्रमों में जाते जरूर थे लेकिन, कभी भी घंटा भर से अधिक रहे नहीं। पूर्व मुख्यमंत्री डा0 रमन सिंह अफसरों से बात कम करते थे। इसलिए, वे उनसे इंट्रेक्ट नहीं हो पाते थे। भूपेश बघेल के साथ ऐसा नहीं है।

सीएम डिनर के बाद संगीत का लुत्फ उठाने के लिए मंच के सामने बैठ गए। उनके अगल-बगल सीके खेतान और आरपी मंडल बैठे। इसको लेकर वहां अफसरों ने खूब चुटकी ली। किसी ने कहा, देखो सीएम साब किसके कंधे पर हाथ रखते हैं, जिसके कंधे पर हाथ रखेंगे, वहीं सूबे का नया चीफ सिकरेट्री होगा।

मैं कोई ऐसा गीत गाउं, कि आरजू जगाउं…

बहरहाल, सीएम ने अपने जमाने के दो पुराने गानों की फारमाइश की। पहला था कागज के फूल फिल्म के….वक्त ने किया क्या हसीं सितम और दूसरा वक्त फिल्म के…..आगे भी जाने न तूं। राज्यपाल अनसुईया उइके की फारमाइश थी, जब कोई बात बिगड़ जाए….। प्रदेश की उभरती हुईं गायिका तुलिका शर्मा ने तीनों गाने गाए। इस पर राज्यपाल और सीएम ने तुलिका के सूर की काफी तारीफ की।

आईएएस अधिकारियों ने जब अपनी तान छेड़ी तो सीएम भूपेश बघेल हतप्रभ हो गए….सूबे की ब्यूरोक्रेसी में ऐसी प्रतिभाएं हैं। सबसे पहले सीएम के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी ने शाहरुख खान के फिल्म यस बॉस के इस गाने के साथ अदभूत पारफारमेंस दिया….मैं कोई ऐसा गीत गाउं, कि आरजू जगाउं….। अब बारी थी एडिशनल चीफ सिकरेट्री केडीपी राव की। केडीपी राव ने मोहम्मद रफी के दो गाने गाएं। पहला था, ताजमहल फिल्म के, जो वादा किया, वो निभाना पड़ेगा और दूसरा, चौदहवी का चांद हो या….जो भी हो खुद की कसम….लाजवाब हो। केडीपी ने जब यह गाया….जो वादा किया, वो निभाना पड़ेगा, इस पर खूब तालिया बजी। पीछे बैठे अफसरों ने चुटकी ली…सीएम साब वादा निभाइयेगा। असल में, केडीपी इसी 31 को रिटायर होने वाले हैं। उन्हें पोस्ट रिटायरमेंट पोस्टिंग मिलेगी या नहीं इसको लेकर सबकी उत्सुकता है।

जो वादा किया, वो निभाना पड़ेगा….

रायपुर कलेक्टर एस भारतीदासन पूरे सिंगर की तरह पर्सनल इंस्ट्रूमेंट लेकर पहुंचे थे। भारतीदासन ने साउथ इंडियन टोन में साजन बिन सुहाग फिल्म की गीत….मधुवन खुश्बू देता है, सागर सावन देता है….।

मधुवन खुश्बू देता है, सागर सावन देता है…

कार्यक्रम की समाप्ति के बाद मुख्यमंत्री ने बैंड के गायकों के साथ फोटो और सेल्फी ली। कुल मिलाकर आईएएस अफसरों के लिए दिवाली मिलन यादगार बन गया।

देखें वीडियो.. 

 

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.