ब्रेकिंग : शिक्षाकर्मियों को फरवरी तक मिल सकती है बड़ी सौगात !… ….मुख्यमंत्री से मिला शिक्षक फेडरेशन… इशारों में CM ने दिया बड़ी सौगात के संकेत… बजट पर टिकी निगाहें

रायपुर 27 अक्टूबर 2019। बजट में शिक्षकों व शिक्षाकर्मियों को बड़ी सौगात मिलेगी। शिक्षक फेडरेशन के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आश्वासन दिया है। फेडरेशन के अध्यक्ष मनीष मिश्रा ने NPG को बताया कि करीब 15 मिनट की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात हुई। इस दौरान फेडरेशन के प्रतिनिधिमंडल ने अपनी चार सूत्री मांगों को मुख्यमंत्री के सामने रखा। चार सू्त्री मांगों में संपूर्ण संविलियन, उच्चतर वेतनमान, वेतन विसंगति और अनुकंपा नियुक्ति शामिल था। हालांकि कयास लग रहे हैं कि वेतन विसंगति पर सरकार बड़ा निर्णय ले सकती है, हालांकि चर्चा ये भी है कि संविलियन पर भी सरकार अपना फैसला ले सकती है, हालांकि इसके लिए अभी फरवरी तक का इंतजार करना होगा।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

प्रदेश अध्यक्ष मनीष मिश्रा के मुताबिक मुख्यमंत्री ने उनकी बातों को ध्यान से सुना और आश्वस्त किया कि फरवरी में बजट में उनकी मांगों पर विचार किया जायेगा, हालांकि वो मांगें संपूर्ण संवलियन की पूरी होगी या फिर वेतन विसंगति या अनुकंपा नियुक्ति की… ये स्पष्ट नहीं हुआ है। मनीष मिश्रा के मुताबिक मुख्यमंत्री ने कहा है कि पहले ही शिक्षाकर्मियों को इस बात का आश्वासन दिया गया था कि उनकी मांगों पर सरकार गंभीरता से विचार कर रही है, ऐसे में बजट में शिक्षाकर्मियों व शिक्षकों के लिए सरकार प्रावधान करेगी।

मनीष मिश्रा ने कहा कि वो पहले भी मुख्यमंत्री से मांगों को संदर्भ में मुलाकात कर चुके हैं, लेकिन आज की मुलाकात काफी अहम रही। 50 से ज्यादा प्रतिनिधिमंडल ने शिक्षकों की मांगों को रखा। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पहले आंदोलन की बातें संगठन में सामने आ रही थी, लेकिन फिलहाल मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद आंदोलन को पूरी तरह से स्थगित रखने का फैसला लिया गया है, अब फरवरी के बाद सरकार के रुख से ही रणनीति तय की जायेगी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आश्वासन के बाद अब फेडरेशन ने तय किया है कि फरवरी तक वो किसी भी आंदोलन का हिस्सा नहीं बनेगा। आश्वासन के अनुरूप अगर बजट में शिक्षक व शिक्षाकर्मियों के लिए प्रावधन नहीं किया गया तो फिर से रणनीति तैयार की जायेगी। आश्वासन के बाद फेडरेशन के प्रदेश स्तरीय पदाधिकारी अभी बैठक कर आश्वासन की समीक्षा करेंगे।

आपको बता दें कि शिक्षक फेडरेशन की दो बड़ी मांगे संपूर्ण संविलियन और वेतन विसंगति, क्रमोन्नति सरकार के घोषणा पत्र में भी शामिल था, लेकिन उस पर अमल नहीं किया जा सका है। हालांकि सरकार से मिले आश्वासन के बाद अब उम्मीदें बढ़ गयी है। शिक्षाकर्मियों को उम्मीद है कि बजट में बड़ा प्रावधान किया जायेगा, माना जा रहा है कि बजट में 2 साल पूर्ण कर चुके शिक्षाकर्मियों का संविलियन कर लिया जाये।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.