जेल में 106 दिन रहने के बाद पी. चिदंबरम को मिली जमानत, कार्ति चिदंबरम बोले- मुझे खुशी है कि मेरे पिता आखिरकार घर आ रहे हैं….

नई दिल्ली 4 दिसंबर 2019. पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम  तिहाड़ जेल से रिहा हो गए हैं. आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आज ही पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को जमानत दी है. जेल से बाहर आने के बाद समर्थकों ने उनका जोरदार स्वागत किया और समर्थन में नारे लगाए. तिहाड़ जेल से छूटने के बाद पी चिदंबरम सबसे पहले कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करने उनके आवास 10 जनपथ पहुंचे हैं.

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

कांग्रेस ने अपनी राज्य इकाई को पी. चिदंबरम का भव्य स्वागत करने के लिए कहा है. पी. चिदंबरम को जमानत मिलने पर कांग्रेस कार्यकर्ता तिहाड़ जेल के बाहर जमा हुए हैं. कई कांग्रेस नेता भी वहां पहुंच चुके हैं. भारी भीड़ को देखते हुए जेल के बाहर सुरक्षा व्यवस्था भी कड़ी कर दी गई है.

चिदंबरम की जमानत पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि चिदंबरम को बदले की कार्रवाई के तहत 106 दिनों तक जेल में रखा गया. उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी. मुझे विश्वास है कि वह निष्पक्ष सुनवाई में अपनी बेगुनाही साबित कर सकेंगे.

पत्रकारों से बात करते हुए कार्ति ने कहा कि मुझे खुशी है कि मेरे पिता आखिरकार घर आ रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने 105 दिनों की ‘गैर-कानूनी’ जेल के बाद उनको राहत दी है. 74 वर्षीय कांग्रेस नेता 21 अक्टूबर से हिरासत में थे. न्यायमूर्ति आर भानुमति, न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना और न्यायमूर्ति ऋषिकेश राय की पीठ ने पूर्व वित्त मंत्री को जमानत देने से इनकार करने संबंधी दिल्ली हाईकोर्ट का फैसला खारिज कर दिया. पीठ ने कहा कि चिदंबरम को दो लाख रुपये का निजी मुचलका और इतनी ही राशि की दो जमानतें पेश करने पर रिहा किया जाए. प्रवर्तन निदेशालय ने न्यायालय में दलील दी थी कि धन शोधन के मामले में एक गवाह चिदंबरम का सामना करने के लिये तैयार नहीं हैं, क्योंकि दोनों एक ही राज्य के हैं.

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.