Home ब्यूरोक्रेट्स जनरल रावत हो सकते हैं देश के पहले CDS….. 2019 में हो...

जनरल रावत हो सकते हैं देश के पहले CDS….. 2019 में हो रहे हैं रिटायर…..चीफ आफ डिफेंस के लिए मोदी ने कल ही किये हैं बड़े ऐलान

0

नयी दिल्ली 16 अगस्त 2019।.….तो क्या जनरल विपिन रावत देश के पहले चीफ आफ डिफेंस बनेंगे ??…क्योंकि जब से लाल किला के प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को चीफ आफ डिफेंस मिलने की बात कही है। तभी से विपिन रावत के नाम की चर्चा हो रही हो। मौजूदा चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बिपिन रावत दिसंबर 2019 में रिटायर होने वाले हैं। ठीक उसी दौरान चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति होनी संभव है। ऐसे में मोस्ट सीनियर कमांडर होने के नाते पूरी संभावना है कि बिपिन रावत पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ नियुक्त होंगे।

वरिष्ठ आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति की प्रक्रियाओं को लेकर एक उच्च स्तरीय ‘लागू करनेवाली समिति’  का गठन किया गया है।यह समिति नवंबर 2019 में अपनी रिपोर्ट देगी। ‘लागू करनेवाली समिति’ में रक्षा सचिव, चीफ ऑफ इंटिग्रेटेड डिफेंस स्टाफ टू द चेयरमैन स्टाफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी के साथ ही सदस्य शामिल होंगे।26वें सेनाध्यक्ष जनरल रावत दिसंबर 2019 में रिटायर कर रहे हैं। ऐसे में सबसे ज्यादा सीनियर मिलिट्री कमांडर होने के चलते ऐसा संभव है कि उन्हें पहला सीडीएस बनाया जाए। हालांकि, यह अभी साफ नहीं है कि सीडीएस तीनों सेना प्रमुखों के ऊपर होंगे या फिर अन्य तीनों सेना प्रमुखों के बराबर का रैंक होगा। सरकार में इसको लेकर भिन्न मत है। इसी तरह, सीडीएस का कार्यकाल भी अभी स्पष्ट नहीं है।

एक सीनियर अधिकारी ने बताया- कुछ अहम चीजें जैसे- विदेश समन्वय,  रक्षा से जुड़ी पोस्टिंग और टास्क, ट्रेनिंग, बलों का प्रबंधन ये सभी तीन अंगों की तरफ से अलग से होती है, यह निश्चित तौर पर सीडीएस के अंतर्गत आएगी। प्रबंधन और ट्रेनिंग के लिए हेलीकॉप्टर जिसका तीनों सेना के अंगों के जरिए इस्तेमाल किया जाता है, यह भी निश्चित तौर पर सीडीएस के तहत आएगा।

पूर्व इंटिग्रेटेड डिफेंस स्टाफ (आईडीएस) लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया- ये सभी चीजें लागू करनेवाली समिति की तरफ से देखी जाएंगी और आखिरकार राजनीतिक फैसला लिया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि क्या सीडीएस की नॉन ऑपरेशनल चीजों में भी कोई भूमिका होगी, इस बारे में राजनीतिक नेतृत्व को तय करना है।