Home राजनीति प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में सड़क पर उतरने की बनी रणनीति… आदिवासियों,...

प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में सड़क पर उतरने की बनी रणनीति… आदिवासियों, किसानों व जनमुद्दों को लेकर प्रदर्शन करेगी बीजेपी…

0

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी बिजली कटौती, किसानों की समस्याओं, खाद-बीज की समयबद्ध पर्याप्त आपूर्ति, गन्ना किसानों को बोनस देने के अलावा बढ़ते अपराध, प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों, आदिवासियों की प्रताडऩा, महिला-युवा वर्ग की दिक्कतों जैसे मुद्दों पर जन जागरण करने के लिए धरना-प्रदर्शन करेगी। छत्तीसगढ़ भाजपा की रविवार को हुई प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में विधायक भीमा मण्डावी के राजनीतिक जीवन पर प्रकाश डाला गया तथा उनके साथ भाजपा परिवार सदस्यों के निधन पर शोक व्यक्त कर मृतात्माओं की शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखा गया।
इससे पूर्व प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का शुभारंभ करते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने लोकसभा चुनाव में भाजपा को मिले ऐतिहासिक जनादेश के लिए कार्यकर्ताओं और नेताओं को बधाई दी। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार वादाखिलाफी कर रही है। कर्जमाफी, शराबबंदी, बिजली कटौती जैसे मुद्दों पर प्रदेश सरकार के खिलाफ व्यापक जनाक्रोश की चर्चा करते हुए  उसेंडी ने कहा कि आम आदमी के हितों की रक्षा करने और लोगों की तकलीफों को दूर करने के लिए प्रदेश भाजपा संघर्ष में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी। प्रधेश अध्यक्ष ने कार्यकताओं से पार्टी के सदस्यता अभियान व चुनाव के साथ ही दंतेवाड़ा उपचुनाव व निकाय चुनावों के लिए तैयार होकर जुट जाने का आह्वान किया।
भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री व सांसद  सरोज पांडेय ने पार्टी की वैचारिक अवधारणा की चर्चा करते हुए भाजपा के संगठनात्मक ढांचे को मजबूत बताया और कहा कि संगठन का तंत्र नहीं होने के कारण ही कभी देशभर में शासन करने वाली कांग्रेस आज एक तरह से अप्रासंगिक हो गई। सुश्री पांडेय ने कहा कि संगठन की मजबूती के लिए, उसके आंतरिक लोकतंत्र के लिए सदस्यता, अभियान के प्रति कार्यकर्ता गंभीर हो। उन्होंने इस अभियान के लिए केन्द्रीय नेतृत्व द्वारा निर्धारित तिथिवार कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी देते हुए अपील की कि इस दौरान स्थानीय स्तर पर विविध कार्यक्रम, पत्रक- वितरण कर संवाद और संपर्क व चर्चा के कार्यक्रम भी रखे जाने चाहिए। उन्होंने कहा सदस्यता अभियान 6 जुलाई को डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जन्मदिन से आरंभ होकर एक माह तक चलेगा। सदस्यता अभियान में मिस्ड काल कर सदस्य बनाने के साथ-साथ सदस्यता पर्ची का विकल्प भी मौजूद रहेगा। छत्तीसगढ़ की पिछली भाजपा सदस्यता संख्या से 20 प्रतिशत अधित सदस्य बनाने का लक्ष्य राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने दिया है जिसे हमारे कर्मठ कार्यकर्ता अवश्य पूरा करेंगे।
रविवार को आहूत प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिले अभूतपूर्व जनादेश को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम व काम पर जनमत की मुहर बताते हुए कार्यकर्ताओं के परिश्रम और समर्पण को इस जीत का श्रेय दिया। डॉ. सिंह ने कहा कि भाजपा भारतीय जनसंघ के अपने स्थापना काल से ही प्रखर राष्ट्रवाद के वैचारिक दृष्टिकोण पर काम कर रही है। राष्ट्रवाद की इस विचारधारा को अब प्रधानमंत्री श्री मोदी ने देश के साथ-साथ दुनिया में स्थापित किया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार के जनविरोधी और अलोकतांत्रिक कार्यों से समूचे प्रदेश में बेचैनी, छटपटाहट और आक्रोश पनप रहा है। यह देश की पहली राज्य सरकार होगी जो अपने कार्यकाल के महज छह महीनों में ही इतनी ज्यादा अलोकप्रिय हुई है। जनता की बेचैनी, छटपटाहट व आक्रोश को व्यक्त करने के लिए भाजपा संघर्ष का बिगुल फूंकेगी।


प्रदेश के पूर्व मंत्री व विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कार्यसमिति में राजनीतिक प्रस्ताव रखा। उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव में पार्टी ने देशभर में 50 फीसदी से ज्यादा वोट लेकर ऐतिहासिक जनादेश प्राप्त किया है। यह जनादेश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर देश के कायाकल्प के लिए व्यक्त विश्वास का प्रतीक है। पिछले विधानसभा चुनाव की चर्चा करते हुए श्री अग्रवाल ने कहा कि तब भाजपा छत्तीसगढ़ में 10 प्रतिशत मतों से पीछे थी लेकिन पांच माह में ही इसी छत्तीसगढ़ में 18 प्रतिशत मतों की बढ़त भाजपा को मिलना चमत्कारिक जनादेश है। प्रदेश सरकार पर लोकसभा की पराजय से बौखलाने का आरोप लगाते हुए पूर्व मंत्री व विधायक ने कहा कि प्रदेश सरकार अब अलोकतांत्रिक और तानाशाहीपूर्ण कदम उठाने में भी नहीं हिचक रही है। प्रस्ताव में प्रदेश सरकार से विस चुनाव में किए गए वादे पूरे करने, अराजकता का माहौल खत्म करने की चेतावनी देते हुए कहा है कि प्रदेश सरकार के गलत फैसलों के खिलाफ संघर्ष करने भाजपा तैयार है। नक्सलवाद, बिजली कटौती, शराबबंदी, बेरोजगारी भत्ता जैसे मुद्दों पर सरकार की विफलता की चर्चा करते हुए श्री अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश में भाजपा जनजागरण का अभियान चलाएगी।
इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने स्थानीय स्तर पर समस्याओं और विषयों को लेकर आंदोलन की रूपरेखा बनाने की बात कही। भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय ने पार्टी के निर्धारित कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी दी। केन्द्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने अपने संबोधन में आश्वस्त किया कि हम सब ईमानदारी से जनकल्याण के काम करेंगे और केन्द्र के द्वारा छत्तीसगढ़ के लिए जरूरी योजनाएं लाने का यथाशक्ति प्रयास करेंगे।
इस मौके पर भाजपा अजजा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविचार नेताम, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, पूर्व मंत्री राजेश मूणत सभी नवनिर्वाचित सांसद सुनील सोनी, चुन्नीलाल साहू, अरूण साव, गुहाराम अजगल्ले, मोहन मंडावी, श्रीमती गोमती साय व विजय बघेल समेत सभी विधायक मोर्चा-प्रकोष्ठों के पदाधिकारी उपस्थित थे।
कार्यसमिति में राजनीतिक प्रस्ताव विधायक पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने प्रस्तुत किया जिसका समर्थन पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने किया।