Home ब्यूरोक्रेट्स फर्जी IAS गिरफ्तार, कई दिनों से करा रहा था खुद का स्वागत….पिता...

फर्जी IAS गिरफ्तार, कई दिनों से करा रहा था खुद का स्वागत….पिता बोला-बेटा गलत नहीं हो सकता

0

मेरठ 14 अप्रैल 2019। फर्जी आईएफएस अधिकारी जोया खान की गिरफ्तारी को अभी कुछ ही दिन हुए हैं कि मेरठ पुलिस ने अब फर्जी आईएएस अधिकारी को धर दबोचा है। फर्जी आईएएस बनकर जगह-जगह स्वागत करा रहे हापुड़ के सिद्धार्थ गौतम को मेरठ की क्राइम ब्रांच और सिविल लाइन पुलिस ने शनिवार देर शाम गिरफ्तार कर लिया। रेलवे में नौकरी कर रहे चयनित अफसर की शिकायत पर यह कार्रवाई हुई।

एसपी क्राइम डॉ. बीपी अशोक के अनुसार संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा-2018 का परिणाम छह अप्रैल को घोषित किया था। 538 वीं रैंक सिद्धार्थ गौतम के नाम थी। सिद्धार्थ गौतम पुत्र महेश गौतम अलीगढ़ के मूल निवासी हैं और फिलहाल लखनऊ की ओमेक सिटी में रह रहे हैं। वह रेलवे में क्लास वन ऑफिसर हैं।

इधर, हापुड़ के असगरपुरा निवासी सिद्धार्थ गौतम पुत्र अशोक कुमार ने फर्जीवाड़ा करते हुए 538 वीं रैंक पर अपना दावा कर खुद को आईएएस में चयनित होना बताकर अपने घर और आसपास में अपना स्वागत कराना शुरू कर दिया। उधर, विभिन्न समाचार पत्रों में छपी स्वागत की खबरों के जरिये लखनऊ के आईएएस अधिकारी सिद्धार्थ गौतम को इस धोखेबाज की जानकारी हुई। सिद्धार्थ गौतम ने पूरे मामले में मेरठ पुलिस के अफसरों को अपने सारे दस्तावेज भेजकर फर्जी आईएएस के कारनामों की जानकारी दी। एसएसपी नितिन तिवारी के निर्देश पर एसपी क्राइम ने जांच की तो पूरा मामला फर्जी पाया गया।

पिता बोले- बेटा गलत नहीं हो सकता
हापुड़ के असगरपुरा निवासी सिद्धार्थ गौतम के पिता अशोक कुमार का कहना है कि उनके बेटे ने सिविल सेवा की परीक्षा दी थी। सात मार्च को उसका दिल्ली में इंटरव्यू हुआ था। सिद्धार्थ ने पिता को बताया था कि इंटरव्यू में कुल सात अधिकारी थे। इंटरव्यू प्रक्रिया अच्छी हुई। अब छह अप्रैल को सिद्धार्थ ने पिता अशोक को आईएएस में चयनित होने की जानकारी दी थी। जिसके बाद उसका हापुड़ में जगह-जगह स्वागत भी हुआ। अशोक बताते हैं कि सिद्धार्थ ने कभी आईएएस की कोचिंग नहीं ली। हां, वह रेलवे रोड पर कोचिंग सेंटर में पढ़ाने के लिए जरूर जाता था। पिता का कहना है कि हमारा बेटा गलत नहीं हो सकता। हमारे पास उसके पास होने के सारे दस्तावेज मौजूद हैं।

एसपी क्त्रसइम डॉ. बीपी अशोक ने बताया कि फर्जी आईएएस सिद्धार्थ गौतम पुत्र अशोक कुमार निवासी हापुड़ को शनिवार को हापुड़ से गिरफ्तार कर लिया है। उससे फर्जी प्रवेश पत्र सहित अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं। पूरे मामले में आरोपी से पूछताछ और दस्तावेजों की छानबीन की जा रही है। शनिवार को एसपी क्राइम ने हापुड़ निवासी सिद्धार्थ को फोन करके कहा कि यह काम ठीक नहीं है। लेकिन फर्जी अभ्यर्थी ने अपना फर्जी प्रवेशपत्र भी एसपी क्राइम को भेज दिया। एसपी क्राइम ने प्रवेशपत्र की जांच कराने के बाद इस अभ्यर्थी को गिरफ्तार करा दिया। रात में हापुड़ निवासी अभ्यर्थी के पिता की हालत बिगड़ गई। सीने में दर्द होने पर उसे हापुड़ में अस्पताल में भर्ती कराया। देर रात सिविल लाइन पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया और जमानत पर छोड़ दिया।