Home कॉरपोरेट आरआरसी ग्रुप डी: ऑनलाइन आवेदन से पहले जान लें इन बदलाव के...

आरआरसी ग्रुप डी: ऑनलाइन आवेदन से पहले जान लें इन बदलाव के बारे में…..

0

नईदिल्ली 22 मार्च 2019। आरआरसी ग्रुप डी नोटिफिकेशन के पैरा नंबर 16.1 में एक और प्वाइंट जोड़ा गया है। नए प्वॉइंट में कहा गया है कि अगर 10वीं के सर्टिफिकेट या मार्कशीट पर रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं लिखा हुआ है तो उम्मीदवार ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के दौरान रजिस्ट्रेशन नंबर की जगह रोल नंबर लिख सकते हैं। इसी तरह अगर आईटीआई/एनएसी के सर्टिफिकेट या मार्कशीट पर रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं लिखा हुआ है तो उम्मीदवार ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के दौरान रजिस्ट्रेशन नंबर की जगह रोल नंबर लिख सकते हैं। उम्मीदवारों को डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के दौरान इस सर्टिफिकेट/मार्कशीट को जरूर दिखाना होगा होगा जिसका रोल नंबर या रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म में दिया गया होगा।

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 12 मार्च से शुरू हो चुकी है। 12 अप्रैल, 2019 तक इन पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इस बार भी पिछली बार (करीब 63000) से ज्यादा 1,03,769 भर्तियां निकाली गई हैं। पिछली बार जहां रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) ने पूरी ग्रुप डी भर्ती (Level-1 Posts) पक्रिया का संचालन किया था वहां इस बार आरआरसी (रेलवे रिक्रूमटेंट सेल) पूरी भर्ती का संचालन कर रहा है। इस बार की भर्ती में पिछली बार की तरह ही 10वीं पास या आईटीआई की योग्यता मांगी गई है।

इस भर्ती के लिए 18 से 33 आयु के लोग आवेदन कर सकते हैं। ओबीसी के लिए 3 वर्ष और एससी, एसटी कैटेगरी के लिए 5 वर्ष की छूट दी गई है। 10वीं पास (या आईटीआई) उम्मीदवार इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

जनरल कैटेगरी के आवेदक का जन्म 01.07.2001 के बाद नहीं और 02.07.1986 से पहले नहीं होना चाहिए। ओबीसी कैटेगरी के आवेदक का जन्म 01.07.2001 के बाद नहीं और 02.07.1983 से पहले नहीं होना चाहिए।

एससी/एसटी कैटेगरी के आवेदक का जन्म 01.07.2001 के बाद नहीं और 02.07.1981 से पहले नहीं होना चाहिए।

चयन प्रक्रिया
उम्मीदवारों का चयन कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (सीबीटी) और शारीरिक दक्षता परीक्षा (पीईटी) के आधार पर किया जाएगा।  सीबीटी में सफल उम्मीदवारों को पीईटी में बुलाया जाएगा।

मार्क्स नॉर्मलाइजेशन और नेगेटिव मार्किंग
सीबीटी में मार्क्स नॉर्मलाइजेशन की पद्धति अपनाई जाएगी। कुल वैकेंसी के तीन गुना उम्मीदवारों को पीईटी के लिए बुलाया जाएगा।

नेगेटिव मार्किंग
पिछले बार की तरह इस बार भी ग्रुप डी सीबीटी में नेगेटिव मार्किंग होगी। प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक काट लिया जाएगा।