Home ब्यूरोक्रेट्स बिग ब्रेकिंग : चुनाव ड्यूटी से शिक्षकों ने मांगी छुट्टी…तो कलेक्टर ने...

बिग ब्रेकिंग : चुनाव ड्यूटी से शिक्षकों ने मांगी छुट्टी…तो कलेक्टर ने नौकरी से कर दी छुट्टी …..रायपुर कलेक्टर के तल्ख आदेश से मचा हड़कंप….. NPG से बोले कलेक्टर बसव राजू…….

0

रायपुर 19 मार्च 2019। “चुनाव ड्यूटी कर पाने में शिक्षकों ने अपनी मजबूरी गिनायी…तो कलेक्टर ने सीधे फोर्सली रिटायरमेंट का निर्देश दे दिया…”….ये फरमान जारी हुआ है रायपुर से और जारी किया है रायपुर कलेक्टर बसव राजू ने। कलेक्टर बसव राजू ने चार शिक्षकों के खिलाफ फोर्सली रिटायरमेंट का निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को भेजा है। इधर कलेक्टर के निर्देश के बाद DEO की तरफ से संबधित शिक्षकों के खिलाफ नोटिस जारी कर दिया गया है।

दरअसल हुआ यूं कि तीन चरणों में छत्तीसगढ़ में होने वाले चुनाव के मद्देनजर शिक्षकों को चुनाव ड्यूटी में लगाया गया था। रायपुर से पूर्व माध्यमिक शाला छाटा के व्याख्याता मनोज कुमार साहू ….नमिता वर्मा व्याख्यता पंचायत शासकीय उच्च माध्यमिक स्कूल टेकारी, कुंडा… रचना मिश्रा LB व्याख्याता शासकीय उच्च माध्यमिक, टेकारी ..और गोपीराम जांगड़े प्रधान पाठक विद्या मंदिर जुगेसर ने चुनाव ड्यूटी लगने के बाद मेडिकल ग्राउंड के आधार पर छुट्टी के लिए आवेदन दिया था और मांग की थी उन्हें उनकी बीमारी के आधार पर चुनाव ड्यूटी से अलग किया जाये।

इन सभी ने खुद को सुगर का पेसेंट बताते हुए चुनाव ड्यूटी से खुद को राहत देने की मांग की थी। लेकिन इस आवदेन पर कलेक्टर ने आदेश जारी करते हुए सभी के खिलाफ अनिवार्य सेवानिवृति का प्रस्ताव डीईओ को भेजने को कहा है। पत्र में ये भी कहा गया है कि सभी के खिलाफ अनिवार्य सेवानिवृति का प्रस्ताव तैयार कर जिला निर्वाचन कार्यालय को अवगत कराने को कहा है।

आदेश में कहा गया है…

“छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग मंत्रालय महानदी भवन नया रायपुर से प्राप्त पत्र क्रमांक F-7/1/2017/1-3 नया रायपुर के दिनांक 25.4.17 अनुसार 50 वर्ष की आयु अथवा 20 वर्ष की सेवा पूर्ण करने पर शासकीय सेवकों के अभिलेखों के छानबीन कर अनिवार्य सेवानिवृति के संबंध में निर्देश इस ज्ञापन के साथ संलग्न हैं अत: उपरोक्त कर्मचारी के विरुद्ध अनिवार्य सेवानिवृति के संबंध में छत्तीसगढ़ शासन से प्राप्त पत्र अनुसार विधि संगत कार्यवाही करना सुनिश्चित करें तथा कृत्य कार्यवाही से इस कार्यालय को अवगत करायें”

इस मामले में NPG ने रायपुर कलेक्टर बसव राजू से बात की, तो उन्होंने कहा कि

“इस तरह की लगातार शिकायतें निर्वाचन कार्यालय तक पहुंच रही थी कि कई शिक्षक चुनाव ड्यूटी से बचने के लिए फर्जी मेडिकल सर्टिफिकेट का सहारा ले रहे हैं, चुनाव एक अनिवार्य सेवा है, इसमें इस तरह की लापरवाही या जानबूझकर झूठे सर्टिफिकेट के जरिये छुट्टी लेने से रोकने के लिए मैंने जांचने और रिपोर्ट निर्वाचन कार्यालय को भेजने को कहा है”

वहीं जिला शिक्षा अधिकारी जीआर चंद्राकर से NPG ने बात की, तो उन्होंने कहा कि

“कलेक्टर से हमें आदेश मिला है, उस आदेश के आधार पर हम संबंधित शिक्षकों को नोटिस जारी कर रहे है और फिर नोटिस के बाद आगे की कार्यवाही की जायेगी”