Home कॉरपोरेट होली के पहले शिक्षाकर्मियों के लंबित वेतन भुगतान की मांग…. संजय शर्मा...

होली के पहले शिक्षाकर्मियों के लंबित वेतन भुगतान की मांग…. संजय शर्मा बोले – वेतन मांगना गुनाह नहीं…लेकिन वक्त पर वेतन नहीं देने वाले अफसर जरूर गुनाहगार…कार्रवाई हो

0

कोरिया/रायपुर 16 मार्च 2019। गिरफ्तारी के करीब 45 घंटे बाद आखिरकार शिक्षक सुरेंद्र जायसवाल की रिहाई तो हो गयी…लेकिन सुरेंद्र पर हुई विभागीय कार्रवाई का कोई हल निकलता नहीं दिख रहा है।  इधर छत्तीसगढ़ पंचायत ननि शिक्षक संघ ने होली के पहले लंबित वेतन भुगतान कराने की मांग की है।

छत्तीसगढ़ पंचायत ननि शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा है कि कोरिया के जिला उपाध्यक्ष सुरेन्द्र जायसवाल द्वारा निर्वाचन प्रशिक्षण के दौरान कलेक्टर कोरिया से पंचायत शिक्षको के लम्बित वेतन भुगतान का मांग रखा गया, जिस पर कलेक्टर कोरिया द्वारा संघ के पदाधिकारी के विरुद्ध धारा 151, 294, 506,186 का मामला दर्ज करवाकर उसे जेल भिजवा दिया गया है। जिला कोरिया के कलेक्टर वेतन देने के बजाय वेतन मांगने पर निर्वाचन कार्य मे बाधा मानकर जेल भेज दिए,,आबंटन होने के बाद भी वेतन क़्यों नही दिया गया? कार्य के बाद वेतन मांगना गुनाह कैसे हुआ? वेतन मांगने पर निलम्बन क़्यों किया गया?

ये प्रश्न अनुत्तरित है,,यह विदित हो कि मामला वेतन नही मिलने का था,,अब आवश्यक है कि इस विषय मे कलेक्टर कोरिया वहाँ के शिक्षको का लंबित वेतन भुगतान उसी शीघ्रता से कराएं,,जैसे कि कार्यवाही की गई।

होली पर्व के पहले वेतन भुगतान सुनिश्चित हो,,साथ ही आबंटन रहने के बाद भी वेतन नही देने वाले जिम्मेदार अधिकारी पर कार्यवाही किया जावे।

छत्तीसगढ़ पंचायत ननि शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा कि,,वेतन मांगना गुनाह नही है,,,पर वेतन नही देने वाले जिम्मेदार अधिकारी की पहचान कर कारवाही जरूरी है।