Home राजनीति कांग्रेस का भाजपा पर पलटवार, बोले-नेशनल हेराल्ड को विज्ञापन का 50 लाख...

कांग्रेस का भाजपा पर पलटवार, बोले-नेशनल हेराल्ड को विज्ञापन का 50 लाख का आंकड़ा झूठा, मोदी जी के 66 अरब के खर्च का हिसाब भी दे देती भाजपा….

0

भाजपा के संगठनों को दिये गये खरबों रूपयों के विज्ञापनों का हिसाब दे भाजपा?

भाजपा के सहयोगी दलों के नेताओं ने कभी इन पर सवाल क्यों नहीं खड़ा किये?

रायपुर 14 मार्च 2019। नेशनल हेराल्ड को 50 लाख रू. का विज्ञापन देने के भाजपा के आरोप को कांग्रेस ने झूठा, बेबुनियाद, तथ्यहीन करार दिया। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि नेशनल हेराल्ड अखबार को विज्ञापन मामले में भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दल अनर्गल बयानबाजी कर निराधार आरोप लगा रहे है। जनसंपर्क विभाग सभी स्थानीय और राष्ट्रीय अखबारों को निर्धारित मापदंडों के आधार पर विज्ञापन तय करता है। नेशनल हेराल्ड एक राष्ट्रीय दैनिक है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने तो भाजपा और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मुख पत्रों तक को पिछले 15 वर्षो में करोड़ों का विज्ञापन उनकी प्रसार संख्या की जांच किये बिना जारी किया था। पांचजन्य, आर्गेनाइजर, दीप कमल, हिन्दुस्तान समाचार, शास्वत राष्ट्रबोध, किसान चेतना, संस्कारवान, संस्कार भारती, तरूण भारत, हिन्दू जागरण मंच, रायपुर, हिन्दू जागरण मंच, कानपुर, वनांचल उत्थान, अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत, सेवा वर्धिनी, दीनदयाल शोध संस्थान, दिल्ली अलग-अलग नामों की सांस्कृतिक संस्थाओं तथा मजदूर संघों जैसे दर्जनों जाने-अनजाने नामों से संचालित पत्र-पत्रिकाओं तथा संगठनों को छत्तीसगढ़ भाजपा सरकार ने विज्ञापन दिए थे। जिनकी भूमिका समाज में हमेशा एक प्रश्न-चिन्ह की तरह रही है। जहां तक राज्य सरकार द्वारा ऋण लेने का सवाल है तो क्या भाजपा सरकार ने कभी ऋण नहीं लिया? और लिया तो किस लिए। भाजपा ने ऐसे निर्माण कार्यों के लिए ऋण लिया, जिसमें अरबो-खरबों रूपए की कमीशनखोरी होती थी। नेशनल हेराल्ड को विज्ञापन देने के मामले को भाजपा ने छत्तीसगढ़ सरकार के कर्ज लेने से जोड़कर अत्यंत अशोभनीय, किसान विरोधी, आदिवासी विरोधी, ग्रामीण विरोधी चेहरा ही दिखाया है। देश जानता है कि भारत के स्वतंत्रता संग्राम और राष्ट्र निर्माण में पं. जवाहर लाल नेहरू जी के द्वारा स्थापित समाचार पत्र नेशनल हेराल्ड की कितनी महत्वपूर्ण भूमिका थी। प्रतिगामी शक्तियां द्वारा आज पं. नेहरू के योगदान को नकारने का घृणित प्रयास किया जा रहा है, जिसे प्रदेश और देश की जनता समझ रही है। बड़े आश्चर्य की बात है कि जिस पार्टी का स्वतंत्रता संग्राम में कोई योगदान नहीं रहा, जिसने सिर्फ नफरत और दंगों की राजनीति की है, वह आज नेशनल हेराल्ड पर उंगली उठा रही है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में चल रही छत्तीसगढ़ सरकार के जनहितकारी कामों पर उंगली उठा रहा है। पहली बात तो यह है कि 50 लाख के नाम पर जो अफवाह फैलाई जा रही है, वह गलत है। भाजपा यह आंकड़ा साबित भी नहीं कर सकती, क्योंकि फेक न्यूज की तरह झूठ है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने जो ऋण लिया तो उसका उपयोग किसानों की ऐतिहासिक ऋण माफी, किसानों को देश में सर्वाधिक धान की कीमत देने, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के कल्याण में किया जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी को किसानों की मदद में पीड़ा हो रही है। इसीलिये किसान ऋण माफी और धान खरीदी के बढ़े मूल्य का वह ऋण का नाम लेकर विरोध कर रही है।