Home कॉरपोरेट OMG….!!! नये साल की खुशी में शराबियों ने छत्तीसगढ़ में हर दिन...

OMG….!!! नये साल की खुशी में शराबियों ने छत्तीसगढ़ में हर दिन पी 20 करोड़ की शराब…..34 दिन में छलके 639 करोड़ के जाम…. 9 महीने में शराब बिक्री के आंकड़े देखेंगे, तो उड़ जायेंगे होश

0

रायपुर 13 फरवरी 2019। ये आंकड़े होश उड़ा देंगे…जब आप सुनेंगे कि छत्तीसगढ़ में नये साल के जश्न में शराबियों ने साढ़े छह सौ करोड़ की शराब गटक ली। छत्तीसगढ़ विधानसभा में कल मंत्री कवासी लखमा के दिये आंकड़े बेहद चौकाने वाले रहे । मंत्री कवासी लखमा ने शिवरतन शर्मा और बृजमोहन अग्रवाल के पूछे गये अलग-अलग सवालों के जवाब में शराब बिक्री और शराब से हुई आमदनी के आंकड़े पेश किये हैं। सरकार ने बताया है कि 17 दिसंबर से लेकर 20 जनवरी के बीच छत्तीसगढ़ में लोगों ने छककर शराब पी। इन महज 34 दिनों में 639.24 करोड़ की शराब की बिक्री हुई। मतलब हर दिन करीब 20 करोड़ की शराब पी। मतलब साफ है कि क्रिसमस और नये साल के जश्न में जमकर जाम छलके हैं।

रिपोर्ट में ये भी जानकारी दी गयी हैं कि 17 दिसंबर 2018 से 20 जनवरी 2019 तक याने की 34 दिनों में प्रदेश के जिलों में कितने रूपये की शराब लोगों ने गटक ली है। तो बता दें कि इस 34 दिनों में राजधानी रायपुर मे सबसे ज्यादा लोगों ने शराब पी है। रायपुर में 125.54 करोड की शराब लागों ने पी है। ये बेहद ही चैकाने वालें आकडे़ हैं। वहीं अगर अन्य जिलों की बात की जाये तो दुर्ग में 76.55 करोड़, बिलासपुर में 56.50 करोड़, राजनांदगांव में 46.83 करोड़, जांजगीर चांपा में 38.82 करोड़, बलौदाबाजार में 35.78 करोड़, गरियाबंद में 13.75 करोड़, महासमुंद में 27.65 करोड़, धमतरी में 28.82 करोड़, बालौद में 25.86 करोड़, बेमेतरा में 21.27 करोड़, कबीरधाम में 16.72 करोड़, बस्तर में 7.86 करोड़, नारायणपुर में 1.56 करोड़ नारायणपुर में 1.56 करोड़, कोण्डागांव में 2.93 करोड़, कांकेर में 9.90 करोड़, दंतेवाड़ा में 3.75 करोड़, सुकमा में 1.19 करोड़, बीजापुर में 3.24 करोड़, मुंगेली में 14.06 करोड़, कोरबा में 24.10 करोड़, रायगढ़ 28.33 करोड़, जशपुर 6.19 करोड़, सरगुजा में 7.12 करोड़, बलरामपुर में 1.96 करोड़, सूरजपुर में 6.09 करोड़, कोरिया में 6.91 करोड़ की शराब लोगों ने गटकी है। मतलब 639.24 करोड़ की शराब शराबियों ने गटक ली है।

बता दें कि प्रदेश में देशी शराब दुकानों की संख्या 373 और विदेशी शराब दुकानों की संख्या 323 है। टोटल प्रदेश में 696 शराब की दुकाने संचालित की जा रही है। वहीं वित्तीय वर्ष में शराब की खपत को लेकर अप्रैल से लेकर दिसंबर तक के जो आंकड़े दिये गये हैं, वो भी बहुत हैरान करने वाले हैं। नौ माह में लोगों ने 3188.63 करोड़ रूपये खर्च कर दिए।

हालांकि अगर देखा जाये तो साल दर साल शराब विक्रय से सरकार के राजस्व में बढ़ोतरी भी हुयी है। साल 2013 से 2014 में 1 जनवरी 2014 से 31 मार्च 2014 तक याने तीन माह में 536.02 करोड़ का राजस्व सरकार को शराब बिक्री से प्राप्त हुआ था। वहीं 2014 से 2015 में 2449.30 करोड़, 2015-16 में 2911.31 करोड़, 2016-17 में 3307.65 करोड़, 2017 से 2018 में 3908.78 करोड और 2018 1 अप्रैल से 30 नवंबर 2018 तक मतलब की आठ माह में 2784.03 करोड़ का राजस्व शराब की बिक्री से सरकार को प्राप्त हुआ था।