Home बड़ी खबर समता कॉलोनी गोलीकांड की गुत्थी सुलझी…..मास्टर माइंड कोलकता में चढ़ा पुलिस के...

समता कॉलोनी गोलीकांड की गुत्थी सुलझी…..मास्टर माइंड कोलकता में चढ़ा पुलिस के हत्थे

1699
0

रायपुर 16सितंबर 2018। दो साल पहले समता कॉलोनी में हुए गोली कांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने कोलकाता से मुख्य आरोपी ओम प्रकाश पाण्डेय को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी ने किट प्लाई कंपनी के मैनेजर आंजय कुमार को मारने के लिए 3 लोगों को दो लाख रुपये की सुपारी दी थी। तीनों आरोपी को पहले ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। आरोपियों से कड़ी पूछताछ में मुख्य आरोपी का नाम सामने आया था। जिसके बाद उसकी गिरफ्तारी की गई।

जानकारी के मुताबिक घटना 29 दिसम्बर 2016 की है। अजय समता में अपने आफिस में बैठा हुआ था। तभी दो अज्ञात लोग बाइक में आते हैं और कुछ देर अजय से बात कर के उस पर पिस्टल से गोली मार कर फरार हो गये। खून से लतपथ अजय को उसके मालिक द्वारा अस्पताल ले जाया गया। जहां पर उसकी मौत हो गई। मामले में पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम के द्वारा 3 आरोपियों की गिरफ्तारी की गई। गिरफ्तार आरोपियों में एक आरोपी जो कि कोलकत्ता से पिस्टल के साथ गिरफ्तार हुआ उसने पुलिस को बताया कि अजय और कोलकत्ता के श्रीराम मील प्राइवेट लिमिटेड के मालिक ओमप्रकाश के बीच लकड़ी का ठेका 1 करोड़ 40 लाख में हुआ था। जिसके लिए दोनों ने प्लांटटेंशन की थी। जिसके बाद लकड़ी के सप्लाई के लिए एक साल का एग्रीमेंट हुआ था। इसी बीच दोनों में किसी बात को लेकर अनबन हो गई, जिसके चलते अजय कुमार ने लकड़ी सफ्लाई करना बंद कर दिया। जिससे ओमप्रकास को 50 से 70 लाख रुपये का नुकसान हो गया। ओमप्रकास इसी बात को लेकर काफ़ी परेशान था। उसने अपना बदला लेने के लिए 2 लाख की सुपारी तीन लोगों को मर्डर के लिये दी थी।

मामले में क्राइम ब्रांच डीएसपी अभिषेक माहेश्वरी ने बताया कि…..

गिरफ्तार हुए तीनों आरोपियों से लगातार मामले में पूछताछ की जा रही थी। ओमप्रकाश जो कि कलकत्ता का है। उसी ने अजय कुमार को मारने की सुपारी दी थी। इस पूरे मामले में क्राइम ब्रांच और पुलिस की टीम ने आरोपी ओमप्रकाश को पकड़ने के लिए एक हफ़्ते तक कोलकत्ता में कैम्प किया गया। टीम ने आरोपी को कोलकत्ता एयर पोर्ट पर पकड़ा। आरोपी दिल्ली भागने की फिराक में था।