Home बड़ी खबर 93 लाख की धोखाधड़ी कर फ़रार बर्खास्त बैंक मैनेजर गिरफ्तार, बैंक के...

93 लाख की धोखाधड़ी कर फ़रार बर्खास्त बैंक मैनेजर गिरफ्तार, बैंक के त्रुटिपूर्ण सॉफ़टवेयर से बैंक को ही लगा दिया था लाखों की चपत

461
0

अंबिकापुर 10 अगस्त 2018। जिले के सीतापुर सेंट्रल बैंक मे बतौर मैनेजर पदस्थ विकास आनंद को सरगुजा पुलिस नई दिल्ली से गिरफ़्तार करने मे सफल हो गई है। विकास आनंद पर आरोप है कि उसने बैंक के त्रुटिपूर्ण सॉफ़्टवेयर तकनीक का फ़ायदा उठा कर सेंट्रल बैंक को करीब 93 लाख की चपत लगा दी।
विकास आनंद ने त्रुटिपूर्ण बैंक सॉफ़्टवेयर के आधार पर बैंक को सीतापुर मे पदस्थापना के दौरान फ़र्ज़ी तरीक़े से खाता खोलकर 25 लाख रुपए की चपत लगा दिया। करीब चौंसठ लाख का इसी तरह का गोलमाल उसने सीतापुर के बाद नासिक में भी लगाया। बैंक के ऑडिट में यह गड़बड़ी जब सामने आई तो उसे बर्खास्त कर दिया गया और उसके ख़िलाफ़ एफआईआर कराई गई थी। एफआईआर के बाद से वह फ़रार चल रहा था।
सरगुजा में उसके विरुद्ध प्रकरण वर्ष 2016 से लंबित था और पुलिस उसकी पतासाजी में जुटी हुई थी।सायबर सेल ने बडी मशक़्क़त से उसका पता और लोकेशन निकाला जिसके बाद उसे दिल्ली से गिरफ़्तार किया गया।
कप्तान सदानंद कुमार ने NPG को बताया
“आरोपी ने बैंक को ही क्षति पहुँचाई, सॉफ़टवेयर त्रुटिपूर्ण था जिसकी वजह से उसने फ़र्ज़ी खाता खोल कर राशि में अफ़रातफ़री कर दी, लेकिन बैंक के ऑडिट मे यह मामला पकड़ में आ गया, हालांकि गड़बड़ी बैंक को पकड़ने में समय लग गया, आरोपी ने गड़बड़ी 2010 से 2012 के बीच की थी जिसकी रिपोर्ट 2016 में दर्ज कराई गई थी”