Home Uncategorized बहुचर्चित इंटरसिटी दोहरा हत्याकांड मामला, हाईकोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा पर...

बहुचर्चित इंटरसिटी दोहरा हत्याकांड मामला, हाईकोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा पर लगाई मुहर….सात अभियुक्तों को मौत तक रहना होगा जेल में….

573
0

बिलासपुर 10अगस्त 2018। बहुचर्चित इंटरसिटी हत्याकांड मामले में हाईकोर्ट की डबल बैंच ने अपील को ख़ारिज करते हुए सेशन कोर्ट की आजीवन कारावास की सजा पर मुहर लगा दी है। शहर के इंटरसिटी होटल में गोली मार कर दो युवकों की हत्या की गई थी, उस प्रकरण में सात लोगो को आजीवन कारावास की सजा दी गई थी, सजा के विरुद्ध हाईकोर्ट में अपील की गई थी।
जस्टिस प्रीतिंकर दीवाकर और जस्टिस संजय एस अग्रवाल की युगल खंडपीठ ने प्रकरण पर फ़ैसला सुनाते हुए अपील को ख़ारिज किया और सभी सातों अभियुक्तों के विरुद्ध आजीवन कारावास की सजा को क़ायम रखा है।
शहर के इंटरसिटी हॉटल के पार्किंग लॉन में बीते 9 जून 2010 को रात सवा बारह बजे गुड्डा सोनकर और ननका सोनकर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या के आरोप में सात युवक गिरफ़्तार किए गए थे। इन आरोपियों में जय जायसवाल, विजय अग्रवाल, ऋषिराज मुखर्जी, सम्राट मुखर्जी, मनोज अग्रवाल,अजय जायसवाल और हनी समदरिया शामिल थे। सत्र न्यायाधीश ने 27 सितंबर 2010 को प्रकरण में सभी आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा दी थी।
शासकीय अधिवक्ता विवेक शर्मा ने NPG को जानकारी दी
“प्रकरण में डबल बैंच ने अपील ख़ारिज करते हुए पाया कि, साक्ष्य सही है और सजा में किसी कमी की आवश्यकता नही है, अभियुक्तों के ख़िलाफ़ आजीवन कारावास की सजा जारी रहेगी”