Home कॉरपोरेट यूजीसी की मान्यता सूची में सीवी रामन विवि का नाम नहीं, प्रदेश...

यूजीसी की मान्यता सूची में सीवी रामन विवि का नाम नहीं, प्रदेश के सिर्फ ओपन यूनिवर्सिटी का नाम

2015
0

रायपुर 10 अगस्त 2018। डा सीवी रमन यूनिवर्सिटी को बड़ा झटका लगा है। यूजीसी ने डॉ. सीवी रामन यूनिवर्सिटी के डिस्टेंस एजुकेशन यानि दूरस्थ शिक्षा की मान्यता सूची में उसका नाम शामिल नहीं किया है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानि यूजीसी की तरफ से जारी की गयी सूची में सीवी रामन यूनिवर्सिटी का नाम नहीं है। कल जारी हुई सूची में सिर्फ छत्तीसगढ़ से सिर्फ पंडित सुंदरलाल शर्मा ओपन यूनिवर्सिटी को ही मान्यता दी गई है।…हालांकि उसे भी सिर्फ एक कोर्स की ही मान्यता मिली है, और वो बीए की।

यूजीसी ने देशभर के विश्वविद्यालयों के लिए डिस्टेंस एजुकेशन के लिए वर्ष 2018-19 के दाखिले के लिए सूची जारी कर दी है। सूची में बिलासपुर स्थित प्रदेश की एक मात्र स्टेट ओपन यूनिवर्सिटी को ही मान्यता दी है। जहां डिस्टेंस एजुकेशन में केवल बेचलर ऑफ आर्टस संचालित को ही मान्यता दी गयी है।

आपको बता दें कि डॉ सीवी रमन यूनिवर्सिटी के खिलाफ वर्ष 2018 में छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में कई शाखाओं के माध्यम से मोटी रकम लेकर फर्जी डिग्रियां बांटने के मामले में एफआईआर दर्ज हुई थी। बिलासपुर पुलिस ने इस निजी यूनिवर्सिटी के तत्कालीन कुलपति संतोष चौबे, रजिस्ट्रार गौरव शुक्ला और उप रजिस्ट्रार नीरज कश्यप के अलावा पूर्व रजिस्ट्रार शैलेश पांडे के खिलाफ स्थानीय कोटा थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था। यूजीसी की मान्यता लिस्ट में नाम न होना सीवी रामन विवि के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।
यह खुलासा कुछ दिन पहले ही हुआ था, जब कुछ छात्रों के सर्टिफिकेट को वैरिफिकेशन के दौरान अयोग्य करार दिया गया था। गुजरात के हायर एजुकेशन सिकरेट्री ने भी छत्तीसगढ़ शासन को पत्र लिखकर सीवी रामन की जांच करने के लिए कहा था।

यूजीसी की मान्यता सूची में नाम न होने के बारे में सीवी रामन विवि के असिस्टेंट रजिस्ट्रार नीरज कश्यप न्यूपावरगेम ने व्हाट्सएप संदेश भेजकर पक्ष लेना चाहा। उनसे कहा गया कि अगर इस बारे में कोई विज्ञप्ति हो तो भेजें। असिस्टेंट रजिस्ट्रार ने जवाब में ओके कहा। लेकिन, देर रात तक उनका पक्ष नहीं मिला।