Home कॉरपोरेट सात करोड़ से अधिक की ठगी करने वाले इनामी पिता पुत्र गिरफ़्तार,...

सात करोड़ से अधिक की ठगी करने वाले इनामी पिता पुत्र गिरफ़्तार, कोरबा में दर्जनों मामले थे दर्ज, सरगुजा इलाक़े से हुए गिरफ़्तार

314
0

कोरबा 6 अगस्त 2018। गिरोह बनाकर ज़मीन के बदले नौकरी और मुआवज़े और सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले शातिर आरोपी शंकर रज़क को कोरबा पुलिस ने सरगुजा से गिरफ़्तार कर लिया है। शंकर रज़क पर बीस हजार का ईनाम घोषित था।
शंकर रज़क पर जिले के दीपिका बांकीमोंगरा कुसमुण्डा कटघोरा में ठगी के दर्जनों मामले लंबित है। शंकर रज़क के साथी रतन रज़क और सिद्धार्थ महंत पूर्व में गिरफ़्तार हो चुके है जबकि शंकर रज़क और उसका पुत्र अजय रज़क फ़रार थे।

शंकर रज़क और उसके गिरोह पर एसईसीएल में नौकरी लगाने, राज्य सरकार में नौकरी लगाने तथा ज़मीन ख़रीदी और मुआवज़ा दिलाने के नाम पर सात करोड़ रुपए से अधिक के ठगी के दर्जनों मामले दर्ज हैं।
कोरबा पुलिस लंबे अरसे से आरोपी और उसके सहयोगी उसके पुत्र की तलाश में लगी हुई थी। कोरबा पुलिस ने दोनो आरोपी पिता पुत्र को सरगुजा जिले से गिरफ़्तार करने में सफलता हासिल की है।
सीएसपी दर्री पुष्पेंद्र सिंह बघेल ने NPG को बताया

“टीम एक सप्ताह से अंबिकापुर इलाक़े में मौजुद थी, उस इलाक़े में जगन्नाथपुर में एसईसीएल की खदान का विस्तार होना था, वहाँ पर रहकर भी शंकर रज़क नौकरी और मुआवज़े के नाम पर ठगी कर रहा था,पुलिस टीम ने उसे तथा प्रकरण में वांछित उसके पुत्र अजय रज़क को गिरफ़्तार कर लिया है, पूछताछ में कुछ और मामलों के ख़ुलासा होने की पूरी संभावना है”