Home Exclusive …. जब घायल जवान की जान बचाने DIG ने दिया अपना ख़ून……चिंतागुफा...

…. जब घायल जवान की जान बचाने DIG ने दिया अपना ख़ून……चिंतागुफा में नक्सल हमले में हुआ था जख्मी

243
0
रायपुर 12 जुलाई 2018। DIG सुंदरराज पी ने रक्तदान कर नक्सल हमले में घायल अपने एक जवान की जान बचायी। घायल जवान का नाम मड़कम हुर्रा है, डीआरजी का ये जवान 10 जुलाई 2018 को सुकमा के चिंतागुफा थाने के मिनपा गांव में नक्सली मुठभेड़ में मोर्चा थामे था, लेकिन इसी बीच नक्सलियों ने IED ब्लास्ट कर दिया, जिसमें मड़कम हुर्रा गंभीर रूप से जख्मी हो गया।
मड़कम को रायपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। ब्लास्ट में बुरी तरह जख्मी मड़कम का काफी खून बह गया था, उसके पैर के आपरेशन की तत्काल जरूर थी। ऐसे में जैसे ही नक्सल आपरेशन के डीआईजी सुंदरराज पी को इसकी जानकारी मिली, वो नक्सल अभियान शाखा के दो जवान हितेश सिंह और नेमीचंद सोनी के साथ अस्पताल पहुंचे और तीन यूनिट खून देकर घायल जवान की जान बचायी।
दंतेवाड़ा रेंज के डीआईजी का लंबे समय का जिम्मा संभालने वाले सुंदरराज पी की छवि जवानों के बीच नरम दिल और मददगार और ईमानदार अफसरों की रही है। 2003 बैच के आईपीएस अफसर सुंदरराज कोरबा और राजनांदगांव जैसे महत्वपूर्ण जिलों में पुलिस कप्तान का जिम्मा संभाल चुके हैं। कोरबा में रहते एक बड़े अपराधी गिरोह का उन्होंने खात्मा किया था। बस्तर में लंबे समय तक नक्सल आपरेशन की अगुवाई करने वाले सुंदरराज ने बेहतरीन काम किया था। उनका आमचो बस्तर, आमचो पुलिस अभियान कम्युनिटी पुलिसिंग का बेहद मशहूर रहा। हाल ही में उन्हें पुलिस मुख्यालय में नक्सल आपरेशंस का डीआईजी बनाया गया है।