Home राजनीति सीवी रमन विश्वविद्यालय डिग्री मामले में FIR दर्ज….. तत्कालीन रजिस्ट्रार और कांग्रेस...

सीवी रमन विश्वविद्यालय डिग्री मामले में FIR दर्ज….. तत्कालीन रजिस्ट्रार और कांग्रेस नेता शैलेश पांडेय और कुलपति पर अपराध दर्ज

2233
0

FIR में गंभीर आरोप, प्रीवेन्शन ऑफ़ करप्शन एक्ट के तहत अपराध दर्ज

बिलासपुर, 15 जून 2018। कोटा और बिलासपुर इलाक़े में विशेष तौर पर सक्रिय सीव्ही रमन विश्वविद्यालय के आईसेक्ट सेंटर को बिलासपुर पुलिस ने अपनी जाँच में फ़र्ज़ी पाया है। जाँच में यह पाया गया है कि, अव्वल तो इसे संचालित करने की पात्रता नही थी साथ ही सर्टिफ़िकेट कोर्स की जगह डिग्री कोर्स दिया जा रहा था।
  करीब एक महीने पहले प्रमेन्द्र मानिकपुरी युवक ने इस आशय की शिकायत कप्तान आरिफ़ शेख़ को दी थी जिसमें आईसेक्ट संचालन को लेकर गंभीर आरोप लगाए गए थे।
  कप्तान आरिफ़ शेख़ ने NPG से कहा
“सीव्ही रमन के ज़रिए जो आईसेक्ट सेंटर चल रहे थे वे नही चलाए जा सकते थे, और सर्टिफ़िकेट कोर्स की जगह डिग्री कोर्स दिए जा रहे थे, हमने जाँच में पाया कि,डिग्रियाँ भी निर्धारित सीटों से ज्यादा दी गईं, साथ ही जो डिग्री एक साल में दी जानी थी, वो पंद्रह दिनों मे दी गई। हमने नीजि विश्वविद्यालय के नियंत्रक तथा विधिक सलाहकारों की राय के बाद अपराध दर्ज किया है”
पुलिस ने मामले में सीव्ही रमन विश्वविद्यालय के कुलपति संतोष चौबे, पूर्व रजिस्ट्रार शैलेष पांडेय वर्तमान रजिस्ट्रार गौरव शुक्ला के साथ साथ उप रजिस्ट्रार नीरज कश्यप के ख़िलाफ़ कोटा थाने में क्राईम नंबर 247/18 में अपराध दर्ज कर
धारा 13(1)(d) 13(2) प्रीवेन्शन ऑफ़ करप्शन एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।संकेत है कि, इस प्रकरण में विवेचना के बाद धारा 420 जोड़ी जाएगी।
आपको बता दें कि कुछ महीने पहली ही शैलेश नौकरी छोड़कर कांग्रेस पार्टी ज्वाइन किये थे।  गुजरात के उच्च शिक्षा सचिव ने भी सीवी रमन की डिग्री को फर्जी करार देते हुए छत्तीसगढ़ सरकार को जांच करन को कहा था, लेकिन उच्च शिक्षा विभाग ने वो फाइल दबा दी।