अपराध पर नियंत्रण करने राजधानी में लगेंगे अतिरिक्त कैमरे व सिग्नल, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने किया हाईटेक दक्ष प्रणाली का अवलोकन…

रायपुर 11 सितंबर 2019। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड व जिला पुलिस की विश्वव्यापी एकीकृत यातायात प्रबंधन प्रणाली “दक्ष” का अवलोकन किया। पहली बार इस दक्ष प्रणाली का अवलोकन करने पहुंचे गृह मंत्री साहू ने कमान एवं कंट्रोल रूम से पूरे शहर का जायजा लिया। महापौर प्रमोद दुबे ने गृह मंत्रीसाहू की अगवानी की एवं शहरी यातायात प्रबंधन एवं अपराध रोकथाम के लिए जरूरी आवश्यकताओं से उन्हें अवगत कराया। रायपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक आनंद छाबड़ा, कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख, कमिश्नर शिव अनंत तायल सहित रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड, नगर निगम व पुलिस के आला अधिकारी भी इस दौरान साथ थे।

गृह मंत्री साहू ने इस परिसर में शहरी यातायात व अपराध नियंत्रण की हाईटेक प्रणाली की विस्तार से जानकारी ली। कमिश्नर तायल ने कमान सेंटर के जरिए शहरी सतर्कता के लिए किए जा रहे प्रबंधों की विस्तार से उन्हें जानकारी दी। महापौर प्रमोद दुबे ने गृह मंत्री को अवगत कराया कि दक्ष प्रणाली आम लोगों की सुरक्षा व यातायात प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहा है। रात्रि कालीन पालियों में अतिरिक्त पुलिस बल लगाए जाने के बाद यह व्यवस्था और भी सुदृढ़ होगी। उन्होंने गृह मंत्री से अनुरोध किया कि केंद्र व राज्य सरकार के उच्च स्तरीय बैठक में कैमरे व सिग्नल बढ़ाने के लिए ठोस प्रबंध किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अपराध नियंत्रण में भी यह प्रणाली अपनी उपयोगिता साबित कर रहा है।

गृह मंत्री ने इस विश्व स्तरीय प्रणाली के तहत उपलब्ध सुविधाओं की सराहना करते हुए आश्वस्त किया कि इस प्रणाली की उपयोगिता से हर नागरिक लाभान्वित हो इसके लिए हर आधुनिक तकनीक के साथ जरूरी मानव संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे।इस दौरान कमांड सेंटर पर 24 घंटे कर्मचारी तैनाती के संबंध में पुलिस महानिरीक्षक आनंद छाबड़ा व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख के प्रस्ताव पर एक राजपत्रिक अधिकारी के निर्देशन में 60 पुलिस बल की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु शीध्र प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश उन्होंने दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रणाली की निरंतरता के लिए अन्य जिलों के साथ समन्वय कर अतिरिक्त बल हेतु नगर सेना की भी सेवाएं ली जाए। उन्होंने आगे कहा कि इस प्रणाली की उपयोगिता व यातायात नियमों के पालन के लिए जिला पुलिस नगर निगम व रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड मिलकर वृहद जन जागरूकता अभियान का संचालन करें, जिससे यातायात अनुशासन के साथ ही दुर्घटनाओं को रोकने में मदद मिलेगी। पुलिस महानिरीक्षक छाबड़ा ने दक्ष के दल प्रभारी को निर्देशित किया है कि ऐसे वाहन चालक जो 3 माह में एक से अधिक बार यातायात नियमों का उल्लंघन करते कैमरे में दर्ज है उनकी सूची बनाकर कार्यवाही करें।

Ads

Ads

इस अवसर पर बताया गया कि शहर के 82 लोकेशन पर 367 कैमरे प्रस्तावित है, जिसमें 200 क्रियाशील है, शेष 167 जो नेशनल हाईवे व लोक निर्माण विभाग के मार्गों पर निर्धारित है सभी शीघ्र ही क्रियाशील हो जाएंगे। पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख ने अवगत कराया कि वर्तमान व्यवस्था से 40 प्रतिशत नगरीय क्षेत्र कवर हो रहे हैं,अतः 200 अन्य जगहों पर कैमरे व 22 नए रोड सिग्नल का प्रस्ताव तैयार किया गया है। गृह मंत्री साहू ने निर्देशित किया है कि निर्धारित व्यय की पूर्ति स्मार्ट सिटी मिशन के अतिशेष मद से किए जाने हेतु उच्च स्तर पर चर्चा कर शीघ्र ही निर्णय लिए लिया जाएगा। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने कहा कि जिला स्तर पर पूर्ण समन्वय के साथ सभी विभाग शहरी यातायात प्रबंधन प्रणाली का बेहतर उपयोग कर रायपुर की यातायात व्यवस्था में व्यापक सुधार के समुचित प्रबंध सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के महाप्रबंधक (तकनीकी) एस.के. सुंदरानी, डी.एस.पी. ट्रैफिक सतीश ठाकुर सहित आला अधिकारी उपस्थित थे।

 

 

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.