एक्सप्रेस-वे मामले में मूणत समेत कई लोगों के खिलाफ शिकायत …… रायपुर पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने की शिकायत….. इन अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग

रायपुर 17 अगस्त 2019। एक्सप्रेस वे हुई अनियमितता को लेकर रायपुर पश्चिम विधानसभा के विधायक विकास उपाध्याय ने लोक निर्माण विभाग के पूर्व मंत्री राजेश मूणत समेत  कई लोगों के खिलाफ  थाने में  लिखित शिकायत कर एफआईआर दर्ज कराने की मांग की है।  विधायक श्री उपाध्याय ने  निर्माण एजेंसी  विभागीय  अफसर एवं कुछ जनप्रतिनिधियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने इस मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।
दोपहर करीब 3:30 बजे सिविल लाइन थाना पहुंचे।  उपाध्याय ने कहा की निर्माण एजेंसी से जुड़े लोगों ने स्वयं के लाभ के लिए विधि विरुद्ध कार्य किए हैं। इस निर्माण में गुणवत्ता और मापदंड की अनदेखी की गई है। कुछ लोगों को लाभ पहुंचाने की मंशा से मापदंडों को दरकिनार कर राज्य को आर्थिक क्षति पहुंचाया है। साथ ही राज्य के लाखों लोगों की जान को खतरे में डाला है। 12 किलोमीटर क्या एक्सप्रेस-वे रायपुर रेलवे स्टेशन से फाफाडीह चौक होते हुए ग्राम केंद्री अभनपुर तक गया है। इसमें कुल 5 फ्लाईओवर बने हैं। जिसमें से लाखों लोगों की आवाजाही होती है। निर्माण एजेंसियों के इस कृत्य से राज्य की जन धन की हानि हुई है। लोकार्पण से पूर्व ही फ्लाईओवर और एक्सप्रेस-वे की सड़कें धसक गई। इससे देश और दुनिया में छत्तीसगढ़ की ख्याति को क्षति पहुंची है। इस पूरे निर्माण में लापरवाही बरतने बालों में लोक निर्माण विभाग के पूर्व मंत्री राजेश मूणत के अलावे,
1.m/s आयरन ट्रेंगल लिमिटेड
2.कंसल्टेंट -m/s लियॉन इंजीनियरिंग कंसल्टेंट
3.मैनेजिंग डायरेक्टर(MD)  अनिल रॉय
4जनरल मैनेजर(GM)  जी एस सोलंकी( rtd ENC PWD)
5. डिप्टी जनरल मैनेजर  जतिन सिंह इरीगेशन डिपार्टमेंट
6 प्रोजेक्ट मैनेजर(PM)  एस सी आर्या (RES डिपार्टमेंट)
7 असिस्टेंट मैनेजर नीलेश दत्त भट्ट PWD के खिलाफ शिकायत की है।  उपाध्याय ने कहा  उच्चस्तरीय जांच होने पर कई लोगों के चेहरे बेनकाब होंगे। उन्होंने थाना प्रभारी को शिकायत पत्र सौंपकर इन लोगों के खिलाफ मामला पंजीबद्ध कर विवेचना करने की मांग की। श्री उपाध्याय के साथ रायपुर दक्षिण के प्रत्याशी रहे कन्हैया अग्रवाल समेत सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

Ads

Ads

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.