30 नवंबर के बाद काम नहीं करेगा चेकबुक….इस बैंक ने बंद की 51 शाखाएं….

नईदिल्ली 3 अक्टूबर 2018. सार्वजनिक क्षेत्र के प्रमुख बैंक ऑफ महाराष्ट्र (बीओएम) ने अपने खर्च में कमी लाने के उपायों के तहत महाराष्‍ट्र में अपनी 51 शाखाओं को बंद करने की घोषणा की है। पुणे स्थित मुख्यालय के एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि ये सारी शाखाएं शहरी क्षेत्रों में हैं, जिन्हें बंद करने के लिए चिह्नित किया गया है। इन शाखाओं को अलाभकारी घोषित किया गया है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

जानकारी के मुताबिक इन 51 शाखाओं को बंद करके उनका विलय पास की शाखाओं में कर दिया गया है। सार्वजनिक क्षेत्र के किसी बैंक द्वारा महाराष्ट्र में उठाया गया यह पहला कदम है। बीओएम की देशभर में 1,900 शाखाएं हैं।

बंद हुई शाखाओं के आईएफएससी कोड और एमआईसीआर कोड रद्द कर दिए गए हैं और सभी बचत, चालू व अन्य खाते विलय की गई शाखाओं में स्थानांतरित कर दिए गए हैं। इसका मतलब साफ है कि अब ग्राहकों का खाता दूसरी ब्रांच में शिफ्ट हो जाएगा।

बैंक ऑफ महाराष्ट्र की बंद की गईं शाखाओं के सभी ग्राहकों को पहले जारी किए गए चेकबुक 30 नवंबर तक वापस जमा करने व नई शाखा के आईएफसीएस/एमआईसीआर कोड के साथ भुगतान उपकरण प्राप्त करने का निर्देश दिया गया है। बैंक ऑफ म‍हाराष्‍ट्र ने कहा है कि पुराने IFSC/MICR कोड 31 दिसंबर से हमेशा के लिए अमान्‍य हो जाएंगे, इसलिए ग्राहक अपने सभी बैंकिंग लेन-देन नए IFSC/MICR कोड के जरिए करें।

अब ग्राहक क्या करेंगे- बंद हुई शाखाओं के आईएफएससी कोड और एमआईसीआर कोड रद्द कर दिए गए हैं और सभी बचत, चालू व अन्य खाते विलय की गईं शाखाओं में स्थानांतरित कर दिए गए हैं. इसका मतलब साफ है कि अब ग्राहकों का खाता दूसरी ब्रांच में शिफ्ट हो जाएगा

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.