लड़कियों के सरकारी स्कूल में 50 साल से कम उम्र के पुरुष शिक्षक नहीं पढ़ा पाएंगे…. शिक्षा मंत्री का बड़ा बयान, ट्रांसफर किए जाएंगे जवान टीचर

जयपुर 19 अक्टूबर 2019। राजस्थान सरकार ने गर्ल्स स्कूलों को लेकर एक ऐसा फैसला लिया है, जिसे लेकर विभाग उलझन में फंस गया है। राज्य सरकार ने ये फैसला लिया है कि अब 50 साल से कम उम्र के पुरुष शिक्षक लड़कियों को नहीं पढ़ाएंगे। ये जानकारी खुद राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा ने  दी है। उन्होंने बताया है कि लड़कियों के सरकारी स्कूल में 50 साल से कम उम्र के पुरुष शिक्षक नहीं पढ़ाएंगे। बल्कि गर्ल्स स्कूलों में अब महिला शिक्षिकाओं की ही नियुक्ति की जायेगी।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

राज्य सरकार के इस फैसले पर जब विशेषज्ञों ने इसे बचकाना बताया है। हालांकि अभी इस नियम को लागू नहीं किया गया है। शिक्षा मंत्री गोविंद दोटासरा ने यह भी कहा कि यह फैसला तभी लागू किया जाएगा, जब हमारे पास पर्याप्त संख्या में महिला शिक्षक होंगी।

राजस्थान इस तरह का फरमान निकालने वाला इकलौता राज्य है। इससे पहले अन्य राज्यों में महिला शिक्षिका की नियुक्ति को लेकर सख्ती तो बरती गयी है, लेकिन अभी तक इतने कड़े फैसले के तौर पर अन्य राज्यों में इसे लागू नहीं किया गया था।शिक्षा मंत्री ने कहा, ”हम शिक्षकों और शिक्षक संघ से बात कर रहे हैं. जल्द ही इस संबंध में रोड मैप बनाकर सरकारी विद्यालयों में अधिक से अधिक महिला शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी जिससे लड़कियां अपनी सारी समस्याएं शिक्षकों के साथ शेयर कर सके. उन्होंने कहा कि स्कूलों में महिला शिक्षकों के होने से लड़कियां अपनी मां और बहन की तरह शिक्षकों से भी सारी बात साझा कर सकेंगी.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.