फैसला आज! कर्नाटक सरकार रहेगी या जाएगी…

नईदिल्ली 22 जुलाई 2019। कर्नाटक में जारी सत्ता संकट के बीच सोमवार को मुख्यमंत्री कुमारस्वामी सोमवार को सदन में बहुमत साबित कर सकते हैं। वहीं, रविवार को कांग्रेस-जेडीएस नेताओं के बीच सत्ता बचाने के लिए बैठक का दौर जारी रहा। मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने रविवार  को कांग्रेस-जेडीएस विधायकों के साथ ताज होटल में बैठक की। बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा ने फिर से कहा कि सोमवार को गठबंधन सरकार का आखिरी दिन होगा। उधर, मुंबई में मौजूद बागी विधायकों ने कहा, हम यहां सिर्फ गठबंधन (कांग्रेस-जेडीएस) सरकार को सबक सिखाने के लिए आए हैं। इसके अलावा कोई दूसरा मकसद नहीं है। हम यहां पैसे या किसी दूसरी चीज के लालच में नहीं आए। एक बार सबकुछ ठीक हो जाए, बेंगलुरु लौट जाएंगे। राज्य के बसपा के इकलौते विधायक एन महेश फ्लोर टेस्ट में शामिल नहीं होंगे। रविवार को महेश ने कहा कि पार्टी सुप्रीमो मायावती ने उन्हें इसके लिए निर्देश दिया है। विश्वास मत प्रस्ताव पर बहस के दौरान भी बसपा विधायक सदन में गैर हाजिर थे। इसके बाद कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया था कि मायावती ने अपने विधायक को गठबंधन सरकार के साथ जाने के लिए कहा था।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

कनार्टक विधानसभा में तत्काल विश्वास-मत की मांग करते हुए प्रदेश के दो निर्दलीय विधायक सुप्रीम कोर्ट पहुंचे। याचिकाकर्ता आर. शंकर और एच. नागेश ने अदालत को बताया कि उन्होंने कांग्रेस-जनता दल (सेक्यूलर) गठबंधन सरकार से समर्थन वापस ले लिया है। कनार्टक में एच. डी. कुमारस्वामी सरकार को गिराने के प्रयास में कांग्रेस और जेडी-एस के कई विधायकों के विधानसभा से इस्तीफा देने या भारतीय जनता पार्टी दामन थामने से राजनीतिक संकट बना हुआ है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.