पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने रोहित शर्मा के टेस्‍ट में ओपनिंग करने पर उठाए सवाल

नईदिल्ली 16 सितंबर 2019. प्रमुख चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने स्‍पष्‍ट किया कि वह रोहित शर्मा को बतौर टेस्‍ट विशेषज्ञ ओपनर के रूप में देखना चाह रहे हैं और इस भूमिका के लिए उन्‍हें लंबा समय भी दिया जाएगा। रोहित शर्मा को पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्‍मण का भी समर्थन प्राप्‍त है कि उन्‍हें टेस्‍ट में भी ओपनिंग की जिम्‍मेदारी संभालनी चाहिए। हालांकि, पूर्व भारतीय विकेटकीपर नयन मोंगिया को लगता है कि यह नया प्रस्‍ताव ज्‍यादा सफल नहीं हो पाएगा।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

मोंगिया ने एक अखबार से बातचीत में कहा, ‘ओपनिंग एक विशेषज्ञ जिम्‍मेदारी है, जैसी विकेटकीपिंग। रोहित शर्मा सीमित ओवर क्रिकेट में ओपनिंग कर रहे हैं, लेकिन टेस्‍ट क्रिकेट में मानसिक रूप में बड़े बदलाव की जरूरत होती है। रोहित को यह फैसला लेना होगा कि वह सीमित ओवर क्रिकेट में जैसा खेलते हैं, उसी तकनीक को लाल गेंद क्रिकेट में भी जारी रखें। उन्‍हें टेस्‍ट क्रिकेट में अपने खेल को बदलने के बजाय अपनी ताकत पर ठहरना होगा। अगर वह ऐसा कर पाते हैं तो हो सकता है कि इसका असर उनके सीमित ओवर गेम पर भी पड़े।’

नयन मोंगिया ने युवा बल्‍लेबाजों को मौका नहीं मिलने पर नाराजगी भी जताई। पूर्व विकेटकीपर ने कहा, ‘आप उन ओपनर्स को मौका क्‍यों नहीं दे रहे हैं जो एक सीरीज में 800-1000 रन बना रहे हैं। पांचाल और ईश्‍वरन जैसे खिलाडि़यों की औसत घरेलू क्रिकेट में करीब 50-60 की है।

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.