देवेंद्र यादव का पूर्व मंत्री राजेश मूणत पर तीखा हमला, बोले- 36 हजार करोड़ घोटाला करने वाली सरकार के मुंह से नसीहत शोभा नहीं देती…कुछ भी कहने से पहले 8 लाख फर्जी राशन कार्ड का दें जवाब

रायपुर 21 जुलाई 2019। विधायक देवेंद्र यादव ने पूर्व मंत्री राजेश मूणत पर तीखा हमला बोला है। राशन कार्ड बनाने और उसमें तस्वीर को लेकर राजेश मूणत की टिप्पणी पर देवेंद्र यादव ने आड़े हाथों लेते हुए उन्हें बीजेपी के पुराने कार्यकाल की याद करने की नसीहत दी है। देवेंद्र यादव ने कहा है कि कांग्रेस पर टिप्पणी करने से पहले राजेश मूणत को अपने गिरेबान में झांकना चाहिये, जिन्होंने परिवार से ज्यादा छत्तीसगढ़ में फर्जी लोगों के नाम पर कार्ड बना दिये और करोड़ों का घोटाला किया।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

प्रदेश के युवा एवं तेज तर्रार विधायक देवेंद्र यादव ने कहा है कि राजेश मूणत शायद भूल गये हैं कि प्रदेश में 56 लाख परिवार थे, जबकि इनकी सरकार ने प्रदेश में 64 लाख लाख राशनकार्ड जारी कर दिये। उन्हें पहले जवाब देना चाहिये कि प्रदेश में जो 8 लाख फर्जी राशन कार्ड बनाये गये, उसका राशन किसने खाया और उसके एवज में भाजपा नेताओं ने कितने करोड़ का घोटाल किया।

देवेंद्र यादव ने काह कि पूर्व मंत्री राजेश मूणत कमीशन बंद होने की बौखलाहट में अनर्गल बातों को कह रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसे घोटाले के जनक रहे डॉक्टर रमन सिंह सरकार के मंत्रिमंडल में शामिल राजेश मूणत एवं इनके गिरोह के अन्य नेताओं को अब प्रदेश के जनहितकारी मुद्दों से दूर रहना चाहिए, ये वहीं लोग हैं जिन्होंने 36 हजार करोड़ का पीडीएस घोटाला करने का कीर्तिमान रचा है ऐसे लोगों के मुँह से अन्न संकट की बात शोभा नहीं देती, इन्हें उपदेश देना बंद करना चाहिए।

प्रदेश की जनता ने जो अपनी सरकार चुनी है, उनके द्वारा चुनावी घोषणा पत्र का पालन करते हुवे गरीबी रेखा के नीचे आने वाले परिवारों के साथ ही एपीएल परिवारों के लिए भी कार्ययोजना बनाई है जिसमें एक सदस्य वाले परिवार को 10 किलोग्राम, 2 सदस्य वाले परिवार को 20 किलोग्राम, 3 से 5 सदस्य वाले परिवार को 35 किलोग्राम प्रतिमाह रियायती दर पर चावल उपलब्ध कराया जाएगा. जबकि 5 से अधिक सदस्य वाले परिवार को 35 के बाद 7 किलोग्राम प्रति व्यक्ति अतिरिक्त चावल सरकार देगी। देवेंद्र यादव ने कहा है कि जहां तक बात फ़ोटो लगाने है तो अब कमीशनखोर रहे नहीं तो उनकी फोटो भी क्यों रहे। नवा छत्तीसगढ़ के अध्याय में कमीशनखोरी की कहीं भी स्थान नहीं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.