डॉ रमन, अध्यक्ष विक्रम उसेंडी, सरोज पाण्डेय, धरम लाल कौशिक सहित बीजेपी ने जेटली के निधन पर जताया शोक

रायपुर 24 अगस्त 2019। छत्तीसगढ़ भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई ने पूर्व केंद्रीय वित्त एवं रक्षा मंत्री अरुण जेटली के निधन पर गहन शोक व्यक्त किया है। पार्टी ने जेटली के निधन को न केवल भाजपा, अपितु भारतीय राजनीति और देश की अपूरणीय क्षति बताया है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने कहा कि जेटली के निधन से पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने अपना मार्गदर्शक खो दिया है। भारतीय राजनीति के हर पहलू पर वे अपनी प्रखर, मुखर और तार्किक वक्तृता के बल पर हम सब को दिशा देते थे।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह ने भी जेटली के निधन को अपनी व्यक्तिगत क्षति बताया। जेटली का समूचा जीवन आदर्शों की मिसाल है। संसद में अपने तार्किक वक्तृत्व से उन्होंने भाषायी गरिमा और विद्वत्ता का जो उच्चतम मानदंड स्थापित किया है, वह हम सबके लिए पाथेय है।

राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पाण्डेय ने कहा है कि श्री जेटली के निधन से पार्टी व देश की राजनीति ने विद्वान, प्रखर वक्ता, कुशल प्रशासक खो दिया है। जेटली आम लोगों की राहत के लिए प्रतिबद्ध थे और उन्होंने उनके लिए संवेदना का धरातल विकसित किया।

अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद रामविचार नेताम ने जेटली जी के निधन को पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा कि पार्टी ने संकट के अवसरों का खेवनहार खो दिया। जेटली जी की बौध्दिकता व कानून के ज्ञान के चलते पार्टी को अनेक संकट से बाहर निकालने में सहायता मिलती रही है। ऐसे व्यक्तित्व के खोने की भरपाई नहीं की जा सकती। उन्होंने श्रध्दांजलि अर्पित करते हुए उनके आत्मा की शांति की कामना की।

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने जेटली के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि काल के चक्र ने हमसे बेहतर मार्गदर्शक, पथ प्रदर्शक और कानून वेत्ता छिन लिया। जेटली जी एक व्यक्ति नही संस्था थे, इस क्षति की पूर्ति नही की जा सकती। उन्होंने संवेदनाएं व्यक्त करते हुए ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति की कामना की।
प्रदेश के सभी पार्टी-मोर्चा-प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं, सांसदों, विधायकों आदि ने अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनकी आत्मा की शांति की कामना की।

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.