छत्तीसगढ़ की ये IPS बेटी कश्मीर में PM मोदी का कर रही है सपना पूरा…. दुर्ग की नित्या के हवाले घाटी का संवेदनशील इलाका…. 2016 बैच की है अफसर

रायपुर 14 जुलाई 2019। छत्तीसगढ़ की एक बेटी जम्मू-कश्मीर में अमन लाने में बड़ी जिम्मेदारी निभा रही है। धारा 370 हटने के बाद ख़ौफ के साये में जी रहे के घाटी के लोगों के लिए ये बेटी फौलाद बनकर खड़ी है। 2016 बैच की ये IPS है पीडी नित्या। छत्तीसगढ़ के दुर्ग की रहने वाली नित्या इकलौती अफसर है, जो घाटी में जिम्मेदारी निभा रही है। महिला अफसरों को ज्यादातर लेह लद्दाख या जम्मू में तैनात किया गया है, लेकिन पीडी नित्या घोर संवेदनशील घाटी में तैनात है। NIT रायपुर केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुकी नित्या ने पढ़ाई के बाद बतौर इंजीनियर ACC सीमेंट कंपनी के साथ काम किया। 2014 में नौकरी से इस्तीफा देकर यूपीएससी की तैयारी शुरू की और 2016 में उनका चयन आईपीएस के पद पर हो गया। उनका रैंक 213वां था।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

वर्तमान में श्रीनगर में तैनात 2016 बैच की आईपीएस अफसर पीडी नित्या के ऊपर राम मुंशी बाग से लेकर हरवन दागची गांव तक की जिम्मेदारी है, इसी रास्ते पर हिरासत में लिए गए वीआईपी लोगों को रखा गया है। नेहरू पार्क की सब-डिवीजनल पुलिस अफसर नित्या के मुताबिक आम नागरिकों की सुरक्षा के साथ ही मुझे वीवीआईपी की सुरक्षा भी देखनी होती है। यह छत्तीसगढ़ की मेरी जिंदगी से बिलकुल अलग है। उन्हें कई बार गुस्साए लोगों का सामना करना पड़ता है। वह बताती हैं, ‘मैं छत्तीसगढ़ के दुर्ग से हूं जहां हमेशा शांति रही है लेकिन मुझे चुनौतियां पसंद हैं।’ केमिकल इंजिनियरिंग से बीटेक करने वाली नित्या कश्मीरी और हिंदी के अलावा तेलुगू भी बहुत अच्छी बोलती हैं।

40 किलोमीटर के इस संवेदनशील क्षेत्र में न केवल डल झील का क्षेत्र और राज्यपाल का आवास आता है बल्कि यहीं स्थित इमारतों में वीआईपी लोगों को हिरासत में रखा गया है।नित्या अकेली ऐसी महिला अधिकारी हैं जिन्हें वर्तमान में घाटी में तैनात किया गया है। बाकी महिला अधिकारियों को या तो जम्मू में या लद्दाख में तैनात किया गया है। सिंधिया नगर की नित्या का यूपीएससी में चयन हुआ था। । नित्या की स्कूलिंग केपीएस से हुई है। एनआईटी रायपुर से केमिकल इंजीनियरिंग की फिर दो साल तक एसीसी चंद्रपुर में इंजीनियर का जॉब किया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.